Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जशपुर : राजस्व मामलों में लेट-लतीफी पर बिफरे कलेक्टर, कहा- जल्दी निराकरण करके ऑनलाइन अपलोड करें

कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव सुरक्षा की दृष्टि से साथ ही क्वारेंटाईन सेंटर में सांप-बिच्छु से सुरक्षित रखने के लिए सभी क्वारेंटाईन सेंटर में रहने वाले लोगों के लिए सोने के लिए बेड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए है। पढ़िए पूरी खबर-

जशपुर : राजस्व मामलों में लेट-लतीफी पर बिफरे कलेक्टर, कहा- जल्दी निराकरण करके ऑनलाइन अपलोड करें
X

जशपुर नगर। कलेक्टर महादेव कावरे ने अपने कक्ष में मोबाईल एप्लिकेशन के माध्यम से सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार से राजस्व प्रकरणो की विस्तार से जानकारी लेकर समीक्षा की। उन्होंने राजस्व के लंबित प्रकरण, विवादित-अविवादित, डायवर्सन, नक्सा-खसरा, सीमांकन एवं एसडीएम कोर्ट, तहसीलदार कोर्ट के प्रकरण 7500 वर्गफूट से कम क्षेत्र की भूमि वाले अतिक्रमण की हुई शासकीय भूमि का नियमितकरण, शहरी स्लम पट्टों का नवीनीकरण, वन अधिकार पत्र के संबंध में जानकारी ली।

कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव सुरक्षा की दृष्टि से साथ ही क्वारेंटाईन सेंटर में सांप-बिच्छु से सुरक्षित रखने के लिए सभी क्वारेंटाईन सेंटर में रहने वाले लोगों के लिए सोने के लिए बेड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए है।

उन्होंने कहा कि क्वारेंटाईन सेंटर में बैड को दीवार से सटाकर न लगाएं, ताकि श्रमिकों मजदूरों को जीव-जन्तुओं से सुरक्षित रखा जा सके।

कलेक्टर ने कहा है कि इसमें किसी भी तरह की लापरवाही नहीं चलेगी। क्वारेंटाईन सेंटर के शौचालय को भी प्रतिदिन दो से तीन बार सफाई करने के निर्देश दिए हैं ताकि कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखा जा सके।

कलेक्टर समीक्षा के राजस्व प्रकरणों के धीमी प्रगति पर नाराजगी जाहिर की। राजस्व अधिकारियों को राजस्व प्रकरणों के निराकृत प्रकरणों के निराकृत प्रकरणों का आनलाईन एण्ट्री करने के लिए कहा है।

उन्होंने प्रकरणों के निराकरण के दौरान शासन के निर्देशों का भी भली-भांति पालन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कांसाबेल, मनोरा, पत्थलगांव, कुनकुरी के तहसीलदारों को निर्देशित करते हुए नामांतरण, विवादित-अविवादित के प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिए है।

उन्होंने पत्थलगांव तहसीलदार को सीमांकन के प्रकरणों को गंभीरता से लेते हुए बरसात से पूर्व निराकरण करने के लिए कहा है। साथ ही अधिकारियों को अवगत कराया गया कि अपने क्षेत्र के ऐसे हितग्राही जो 10 किलो चावल की पात्रता रखते हैं उनका भी चिन्हांकन करने के लिएकहा है।

समीक्षा के दौरान राजस्व अधिकारियों को 7500 वर्गफीट तक के अतिक्रमण वाली शासकीय भूमि का नियमितकरण किया जाना है ऐसे अतिक्रमणधारियों को नोटिस जारी करने के भी कहा है ताकि राज्य शासन की योजना का लाभ उठा सकें और अपनी भूमि का मालिकाना हक प्राप्त कर सकें।

उन्होंने अधिकारियों से शहरी स्लम पट्टों के नवीनीकरण और फ्री होल्ड के संबंध में जानकारी ली उन्होंने कहा कि शहरी स्लम पट्टो का नवीनीकरण फ्री होल्ड के अधिकारी प्रकरण बनाकर अधिक से अधिक लोगों को शासन की योजना से लाभांवित करने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों से वन अधिकार पत्र, आरबीसी 6-4 के प्रकरणों के संबंध में भी जानकारी ली। आरबीसी 6-4 के प्रकरणों को गंभीरता और संवेदनशीलता से हितग्राहियों को मुआवजा राशि का वितरण करने के निर्देश दिए है।

उन्होंने कहा कि पानी में डूबने, सांप बिच्छु काटने, आकाशीय बिजली वाले प्रकरण आते हैं तो तत्काल प्रकरण बनाकरके मुआवजा राशि का भुगतान करें। इस अवसर पर अपर कलेक्टर आई.एल.ठाकुर, जशपुर एसडीएम योगेन्द्र श्रीवास, कुनकुरी एसडीएम रवि राही, बगीचा एसडीएम रोहित व्यास, फरसाबहार के एसडीएम नानसाय भगत, नीलांकर बासु, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार मोबाईल एप्लिकेशन से जुड़कर कर राजस्व प्रकरण की जानकारी दी।

Next Story