Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भाई बनने का ऐसा शौक, चाकू मार कर बता रहे अपना नाम और पता

राजधानी के युवाओं में अब इज्जतदार रईस बनने से ज्यादा डॉन या भाई बनने का शौक पनप रहा है। चाकूबाजी और लूट करने के बाद बदमाश पीड़ित से खुद अपनी पहचान डॉन के तौर पर बताते हैं। इन्हीं नामों से पुलिस उन बदमाशों को गिरफ्तार कर रही है। ऐसे एक-दो नहीं बल्कि कई लूट के मामले आए हैं जिनमें बदमाशों ने पीड़ितों को अपना नाम बताया और पुलिस ने उन्हें चौबीस घंटे में दबोच लिया।

भाई बनने का ऐसा शौक, चाकू मार कर बता रहे अपना नाम और पता
X
चाकू मारा (प्रतीकात्मक फोटो)

राजधानी के युवाओं में अब इज्जतदार रईस बनने से ज्यादा डॉन या भाई बनने का शौक पनप रहा है। चाकूबाजी और लूट करने के बाद बदमाश पीड़ित से खुद अपनी पहचान डॉन के तौर पर बताते हैं। इन्हीं नामों से पुलिस उन बदमाशों को गिरफ्तार कर रही है। ऐसे एक-दो नहीं बल्कि कई लूट के मामले आए हैं जिनमें बदमाशों ने पीड़ितों को अपना नाम बताया और पुलिस ने उन्हें चौबीस घंटे में दबोच लिया। ये वारदातें बयां कर रही हैं अब नशेड़ी और आपराधिक प्रवृत्ति के युवा लूट और हत्या की कोशिश जैसे क्राइम पैसे कमाने के लिए नहीं बल्कि डॉन या 'भाई' बनने के लिए नाम कुख्यात करने के लिए कर रहे हैं।

तीन वारदातों में बदमाशों ने बताया मैं डॉन हूं

जानकारी के मुताबिक राजधानी में 4 से 21 जून तक चाकू टिकाकर या हमला कर राहगीरों से मोबाइल व नकदी लूटने की तीन वारदातें हुईं। इनमें बदमाशों ने पीड़ितों को रोककर बताया कि मैं मौदहापारा या शहर का डॉन हूं मेरा नाम हाफिज और शाहरुख है। यही नहीं उन्होंने पीड़ितों से कहा कि पुलिस को मेरा नाम बता देना। बदमाशों का ऐसा दुस्साहस कि पुलिस को भी चुनौती दे रहे हैं।

नाबालिगों का भी ऐसा ही गिरोह

जानकारी के मुताबिक शहर में नाबालिग नशेड़ी बच्चों का भी ऐसा ही गिरोह सक्रिय है जो लूट और चाकूबाजी करने के बाद अपना नाम बता रहे हैं। पुलिस उनको गिरफ्तार कर माना स्थित बाल संप्रेक्षण गृह भेज रही है लेकिन वहां से जमानत पर छूटने के बाद ये बच्चे फिर वारदात नहीं करेंगे ऐसी गुंजाइश बेहद कम है।

इन वारदातों में बदमाशों ने बताए नाम

केस 1- 5 जून 2021 को रोशन सिंह पर चाकू से हमला कर मौदहापारा निवासी हफीजुद्दीन और जाहिद खान ने 12 हजार रुपए लूट लिए थे। उन्होंने भागते समय अपना नाम बताया था।

केस 2- 6 जून 2021 को मोतीबाग से शेख शाहरुख, अयाज बेग और पंकज ने विजय उपाध्याय से 5200 रुपए व मोबाइल लूट लिए थे। उन्होंने भागते समय शाहरुख और अयाज बेग ने अपना बताया था।

केस 3- 21 जून 20121 को केनाल रोड पर ओमप्रकाश यादव पर चाकू से हमला कर मोबाइल व नकदी आरोपी सैयद सैफ अली, यमन नायक और राहुल ने लूट लिए थे। उन्होंने भागते समय अपना नाम बताया है।

बन रही लिस्ट

ऐसे बदमाश जो वारदात के बाद अपना नाम बताते हैं उनकी डिटेल इकट्ठी की जा रही है। इनका नाम निगरानी व गुंडा-बदमाश की लिस्ट में शामिल किया जाएगा।


Next Story