Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

त्योहारी सीजन में काउंटर पर उमड़ रही भीड़, बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण का खतरा

कोविड संक्रमण के बढ़ने के खतरे के बीच शराब दुकानों में शौकीनों ने इन दिनों आफत खड़ी कर दी है। आलम कुछ इस तरह का है कि दिन ढलने के बाद शराब दुकानों में ठसाठस भीड़ पर आबकारी ने नियंत्रण खो दिया है। होली के मद्देनजर दुकानों में कोचिए बेधड़क शराब की पेटियां खरीदी कर उसे खपाने की फिराक में जुट गए हैं। ऐसा ही एक विडियो भी सोशल मीडिया के जरिए सामने आया है।

शहर के पुजारियों का कहना- शराब दुकानों से कम भीड़ मंदिरों में, फिर भी क्यों नहीं खोलती सरकार
X

शराब का ठेका (प्रतीकात्मक फोटो)

कोविड संक्रमण के बढ़ने के खतरे के बीच शराब दुकानों में शौकीनों ने इन दिनों आफत खड़ी कर दी है। आलम कुछ इस तरह का है कि दिन ढलने के बाद शराब दुकानों में ठसाठस भीड़ पर आबकारी ने नियंत्रण खो दिया है। होली के मद्देनजर दुकानों में कोचिए बेधड़क शराब की पेटियां खरीदी कर उसे खपाने की फिराक में जुट गए हैं। ऐसा ही एक विडियो भी सोशल मीडिया के जरिए सामने आया है। भीड़ के बीच न ही सोशल डिस्टेंसिंग का कहीं पालन है और न ही कहीं मास्क का इस्तेमाल हो रहा है।

भीड़ के दौरान शौकीनों के बीच से कोरोना के बढ़ने की आशंका अब बढ़ रही है। होली त्योहार के मद्देनजर आने वाले दो से तीन दिनों में शराब दुकानों में शौकीनों की भीड़ में और इजाफा हो सकता है। ऐसी दुकानें जो सड़कों के किनारे मौजूद हैं, शौकीन यहां ट्रैफिक के लिहाज से पीक ऑवर का माहौल बना चुके हैं। शाम 6 से 7 बजे के बीच शौकीनों की भीड़ की वजह से रास्ते पर जाम लग रहा है।

बेतरतीब पार्किंग आम लोगों के लिए समस्याएं बढ़ा रही है। शौकीन बाहर आकर शराबखोरी तक करने में लगे हुए हैं। शहर में बढ़ते कोविड के मामलों के बीच कलेक्टर डा. एस. भारतीदासन ने भीड़ वाले हिस्सों में मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने सख्त निर्देश जारी कर व्यवस्था लागू करने को कहा है। शराब दुकानों में इन नियमों का पालन कराने के लिए कहीं भी इंतजाम नहीं है। दुकानों के बाहर मॉनिटरिंग की व्यवस्था ढेर है। आबकारी की ओर से सर्किल अफसरों की भी निगरानी कहीं नहीं है।

ट्रैफिक नियमों की उड़ा रहे धज्जियां

शौकीनों की भीड़ बढ़ने के बाद ट्रैफिक नियमों की भी धज्जियां उड़ रही हैं। मोवा पुलिस लाइन के पीछे जीई रोड, कटोरा तालाब और फाफाडीह की ऐसी दुकानें हैं जहां शाम 6 बजे के बाद शौकीनों की भीड़ होते ही रोड पर ट्रैफिक जाम होने लगा है। होली के मद्देनजर आने वाले एक से दो दिन में भीड़ और बढ़ेगी। ऐसे में इलाकों में आम लोगों को जाम की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

दुकानों को बंद करने तक की नौबत

वाइन शॉप में कहीं भी सेनेटाइजर के इंतजाम नहीं किए गए हैं। शौकीनों के चेहरों पर मास्क तो गायब है ही। शराब बेचने वाले कर्मचारी भी बिना मास्क के काउंटर संभालने में लगे हुए हैं। राजधानी में सभी दुकानों को मिलाकर 400 से ज्यादा कर्मचारी दुकानों में काउंटर संभाल रहे हैं। लॉकडाउन के पहले दुकानों से कई कर्मचारी कोविड पॉजिटिव पाए गए थे। इस वजह से दुकानों को बंद करने तक की नौबत आई थी।

होली के पहले दुकानों में कोचियों की एंट्री

टाटीबंध स्थित शराब दुकान से एक विडियो सामने आया है। इस विडियो में बाहर के एक कोचिए को बैग में एक पेटी शराब बेचे जाने के हालात उजागर हुए हैं। प्लेसमेंट कर्मचारी ही पेटी से शराब की बोतलें निकालकर कोचिए के बैग में डाल रहे हैं। आबकारी अफसर फिलहाल इस फुटेज को लेकर कुछ भी नहीं कह रहे हैं। होली त्योहार के मद्देनजर दूसरी दुकानों में भी कोचियों के शराब स्टॉक जमा करने धड़ल्ले से खरीदी चल रही है। ड्राई डे में यही शराब दो से तीन गुना दामों में बेची जाएगी।

Next Story