Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Video Viral : शैक्षणिक संस्थान बंद करने के आदेश के खिलाफ सड़क पर उतर कर उपद्रव कर रहे छात्र

बिहार के सासाराम से बड़ी खबर आ रही है। जहां कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा तमाम निजी और सरकारी स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने के आदेश के खिलाफ छात्र सड़क पर उतर आए हैं। छात्रों ने डीएम कार्यालय पर भी आगजनी की है।

Video Viral sasaram coaching students Protest against Schools colleges and educational institutions closed in bihar due to coronavirus second wave
X

सासाराम में विरोध प्रदर्शन करते छात्र।

बिहार (Bihar) में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर के दौरान तेजी से बढ़ रहे कोविड-19 के मामलों को ध्यान में रखते हुए बिहार सरकार (Government of Bihar) ने सभी निजी और सरकारी स्कूल, कॉलेज एवं शैक्षणिक संस्थानों को बंद (Educational institutions closed) करने का आदेश दिया है। इसी सरकारी आदेश के खिलाफ सासाराम में विभिन्न उग्र छात्र (Student) सड़कों पर उतर आए हैं। छात्र उपद्रव (Fuss) कर रहे हैं, उग्र छात्रों ने सासाराम डीएम कार्यालय (Sasaram DM Office) पर भी आगजनी (Arson) की है। छात्रों के इस विरोध प्रदर्शन की कई वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं।

जानकारी के अनुसार, प्रदर्शन के दौरान छात्रों ने गौरक्षणी मोहल्ले में कई वाहनों के शीशे भी तोड़ दिए। यहां से सभी उग्र छात्र जिला समाहरणालय और कोर्ट के बाहर पहुंचे। इन्होंने वहां भी जमकर उपद्रव किया। यहां छात्रों ने आगजनी भी की। यहां से आक्रोशित छात्रों को खदेड़ने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को पीछे धकेलने के लिए आंसू गैस का प्रयोग भी किया। घटनास्थल पर सासाराम डीएम और एसपी पहुंचकर आक्रोशित छात्रों को शांत कराने का प्रयास कर रहे हैं। इस वारदात के चलते पूरे सासाराम शहर में अफरा तफरी एवं तनावपूर्ण माहौल कायम है। इस घटना की वजह से शहर में सभी दुकानों को बंद करा दिया गया है।

सरकारी आदेश के खिलाफ जताई नाराजगी

याद रहे रविवार को इससे पहले शैक्षणिक संस्थानों को भी बंद किये जाने के निर्देश के खिलाफ में कोचिंग एसोसिएशन ऑफ बिहार ने विरोध जाहिर किया। उनका तर्क था कि शिक्षण संस्थान गाइडलाइन का पालन करते हुए सब कुछ कर रहे हैं। इसके बाद भी सरकार हमेशा शैक्षणिक संस्थानों पर निशाना साध रही है। इस वजह से बिहार की शिक्षा समाप्त हो जाएगी। कोचिंग एसोसिएशन ऑफ भारत (बिहार) के नेत्तृव में रविवार को बैठक आयोजित हुई। जहां पटना, दानापुर और फतुहा तक से बैठक में पहुंचे सैकड़ों शिक्षकों ने सरकारी आदेश के खिलाफ नाराजगी जताई। साथ ही निर्णय लिया कि छात्रों के भविष्यों की रक्षा के लिए कोचिंग संस्थान खुले रखेंगे। एसोसिएशन सचिव सुधीर सिंह समेत विभिन्न शिक्षकों ने बिहार सरकार से निवेदन किया है कि समाज के सबसे सुलझे शिक्षक समुदाय के ऊपर अनर्गल और थोपे गए आदेश को शीघ्रता से निरस्त करें।

Next Story