Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आठ महीने बाद मिला शहीद जवान का शव, बारामूला जिले से हुए थे लापता

उत्तराखंड के देहरादून निवासी शहीद जवान का शव आठ महीने बाद बरामद किया गया है। शहीद जवान आठ महीने पहले जम्मू-कशमीर के बारामूला जिले से लापता हो गए थे।

शव
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तराखंड के शहीद जवान राजेंद्र का शव शनिवार को बारामुला जिले में स्थित गुलमर्ग इलाके से बरामद किया गया है। उऩका शव आठ महीने बाद पाया गया है। बताया जा रहा है कि शहीद जवान उत्तरी कश्मीर में बर्फ में फिसलकर लापता हो गए थे।

शहीद जवान राजेंद्र का पार्थिव शरीर आज देहरादून लाने पर चर्चा चल रही थी। लेकिन कोरोना को देखते हुए अब उनके पार्थिव शरीर 18 अगस्त को देहरादून लाया जाएगा। सेना सूत्रों के मुताबिक जवान के पार्थिव शरीर का पहले कोरोना टेस्ट होगा।

फिर रिपोर्ट आने के बाद दून लाया जाएगा। उधर, परिजनों को जवान के शव की सूचना मिलने के बाद मातम का माहौल बना हुआ है।

पत्नी ने की थी पाकिस्तान से संपर्क करने की मांग

बता दें कि शहीद हवलदार राजेन्द्र सिंह 11 गढ़वाल में तैनात थे। बीते आठ जनवरी को गुलमर्ग में डयूटी के दौरान फिसलकर पाकिस्तान के बॉर्डर की तरफ चले गए थे। काफी तलाशी के बाद भी शहीद जवान का कुछ पता नहीं चल पाया।

लंबे समय बीत जाने के बाद सेना ने उन्हें पिछले महीने शहीद घोषित कर दिया था। लेकिन शहीद राजेंद्र सिंह की पत्नी राजेश्वरी यह मानने को तैयार नहीं थीं। परिजनों को आशंका थी कि नियंत्रण रेखा पर तैनात के दौरान हिमस्खलन की चपेट में आकर वह पाकिस्तान चला गया होगा।

इसके बाद शहीद की पत्नी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री के अलावा थल सेना प्रमुख को पत्र लिख पाकिस्तान से संपर्क करने की मांग भी की थी।


Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story