Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यूपी शिक्षक भर्ती से अंसतुष्ट अभ्यर्थी सीएम आवास का घेराव करने की जिद्द पर अड़े, भारी पुलिस बल तैनात, देखें वीडियो

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण के नेतृत्व में प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थी मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने की जिद्द पर अड़े हैं।

यूपी शिक्षक भर्ती से अंसतुष्ट अभ्यर्थी सीएम आवास का घेराव करने की जिद्द पर अड़े, भारी पुलिस बल तैनात, देखें वीडियो
X

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण की फाइल फोटो।  

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में यूपी शिक्षक भर्ती (UP Teacher Recruitment) से असंतुष्ट अभ्यर्थियों का विरोध प्रदर्शन चल रहा है। भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण (Bhim Army Chief Chandrashekhar Azad Ravan) के नेतृत्व में प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थी मुख्यमंत्री आवास (CM Residence) का घेराव करने की जिद्द पर अड़े हैं। पहले प्रदर्शनकारियों ने लखनऊ सचिवालय (Lucknow Secretariat) का घेराव करने की चेतावनी दी थी। प्रदर्शनकारियों के उग्र तेवरों को देखते हुए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण ने कहा कि प्रदेश में दलित और पिछड़ों के साथ अन्याय हो रहा है। रोजगार में भी उनके हकों को छीना जा रहा है। घेराव का स्थान बदल देने के सवाल पर आजाद ने कहा कि अभ्यर्थी जहां चाहेंगे, वहां प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने पुलिस बंदोबस्त पर कहा कि यहां जितने पुलिसकर्मी तैनात हैं, उससे ज्यादा संख्या हमारी है। हम चाहें तो उन्हें हटा सकते हैं, लेकिन हम संविधान को मानने वाले लोग हैं।

उन्होंने कहा कि अभी अभ्यर्थियों ने सीएम आवास का घेराव करने का निर्णय लिया है। हम उनकी मांगों को सरकार तक लगातार पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन सरकार सुनने को तैयार नहीं है। चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि अगर किसी से उसका हक छीना जाएगा तो वह निश्चित ही विरोध दर्ज कराएगा।

बता दें कि लखनऊ के इको गार्डन में आज सुबह से ही भारी संख्या में अभ्यर्थियों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया था। प्रदर्शनकारियों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अल्टीमेटम दिया था कि अगर दोपहर एक बजे तक सरकार ने उनकी बात नहीं सुनी तो लखनऊ सचिवालय का घेराव किया जाएगा। हालांकि बाद में इसमें बदलाव कर दिया गया।

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने भी इस प्रदर्शन को लेकर ट्वीट किया था। उन्होंने सुबह के अपने ट्वीट में लिखा, 'यूपी में 69,000 शिक्षक भर्ती में आरक्षण लागू कराने के आंदोलन का आज एक महत्वपूर्ण दिन है। हज़ारों कैंडिडेट लखनऊ के इको पार्क धरना स्थल पर पहुंच चुके हैं। मैं भी वहां पहुंच रहा हूं। जीतेंगे।'

यह है मामला

उत्तर प्रदेश में पिछले साल बेसिक शिक्षा विभाग ने 69000 शिक्षकों की भर्ती की थी। आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों का आरोप है कि इसमें आरक्षण घोटाला हुआ है। ओबीसी वर्ग को इस भर्ती में 27 फीसदी की जगह 4 फीसदी से भी कम आरक्षण मिला है। अभ्यर्थियों का आरोप है कि ऐसा ही एससी वर्ग के साथ भी हुआ है।

अभ्यर्थियों का कहना है कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग की ओर से सरकार को भेजी रिपोर्ट में उल्लेख है कि इस शिक्षक भर्ती में 5844 सीटों का आरक्षण में अनिमित्ताएं हुई हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि ओबीसी वर्ग को 21% आरक्षण नही मिला और उन्हें अपने कोटे की 18598 सीट में से केवल 2637 सीट ही दी गई हैं।

और पढ़ें
Next Story