Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sunday Special : जानिए राजस्थान की खुबसूरत संस्कृति का भारत में महत्व, विदेशों तक जाना जाता है यहां का रहन-सहन

हमारे देश की संस्कृति पारंपरिक परिधान में राजस्थान एक ऐसा राज्य है जो देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। राजस्थान भारत के सबसे खूबसूरत राज्यों में से एक है। राजस्थान की संस्कृति विभिन्न समुदायों और शासकों का योगदान है। आइए जानते हैं यहां की सभ्यता के बारे में विस्तार से...

Sunday Special : जानिए राजस्थान की खुबसूरत संस्कृति का भारत में महत्व, विदेशों तक जाना जाता है यहां का रहन-सहन
X

राजस्थान संस्कृति

जयपुर। हमारा देश अपनी संस्कूति, यहां के रहन-सहन, भाषा इत्यादि के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। भारत उन खूबसूरत देशों में से एक है जहां कई तरह की भाषाओं का इस्तेमाल होता है। अलग-अलग त्योहार सब एक साथ मिलकर मनाते हैं और सबसे अच्छी बात जो हमारे देश की शान को और भी ज्यादा बढ़ाती है वो है यहां की संस्कृति। प्राचीन काल से ही भारत की संस्कृति और सभ्यता पूरी दुनिया में मशहूर है। यही वजह है कि यहां विदेशी सैलानियों का तांता लगा रहता है। हमारे देश की संस्कृति पारंपरिक परिधान में राजस्थान एक ऐसा राज्य है जो देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। राजस्थान भारत के सबसे खूबसूरत राज्यों में से एक है। राजस्थान की संस्कृति विभिन्न समुदायों और शासकों का योगदान है। आज भी जब कभी राजस्थान का नाम लिया जाए तो हमारी आखों के आगे थार रेगिस्तान, ऊंट की सवारी, घूमर और कालबेलिया नृत्य और रंग-बिरंगे पारंपरिक परिधान आते हैं।

मेहमाननवाजी के लिए है मशहूर

वैसे तो राजस्थान खूबसूरती के लिए मशहूर है ही साथ ही यहां के लोगों का सभ्य स्वभाव और शालीन मेहमाननवाजी भी लोगों को बार-बार यहां आने पर मजबूर कर ही देती है। चाहे स्वदेशी हो या विदेशी, यहां की संस्कृति तो किसी का भी मन चुटकियों में मोह लेगी। आखिर किसका मन नहीं करेगा रात के वक्त रेगिस्तान में आग जलाकर कालबेलिया नृत्य देखने का। जिन्होंने राजस्थान की संस्कृति का अनुभव किया है वो बहुत खुश नसीब हैं। लेकिन जो इससे अंजान हैं उन्हें हम बताएंगे इस शाही शहर की सरल लेकिन आकर्षक संस्कृति के बारे में कुछ ऐसी दिलचस्प बातें जिन्हें जानने के बाद आपका भी एक बार तो यहां आ कर यहां की खूबसूरती और संस्कृति देखने मन कर ही जाएगा।

बेहद दिलचस्प हैं यहां के कपड़े

राजस्थानी परिधान जहां बात सभ्यता और सुंदरता को एक ही साथ जोड़ने की हो तो राजस्थानी कपड़ों के आगे कुछ नहीं टिकता। महिलाओं के लिए पारंपरिक राजस्थानी कपड़े काफी सभ्य, सुंदर और आरामदायक होते हैं। यहां की महिलाएं पारंपरिक घागरा, चोली और ओढ़नी (दुपट्टा) पहनती हैं। महिलाओं के ये कपड़े चटक रंग के होते हैं, जिनमें गोटा (बॉर्डर) लगा होता है। अपने से बड़ों के सामने और बाहरी लोगों के आगे महिलाएं घूंघट निकाल कर रखती हैं। इस तरह से वो उस व्यक्ति को अपने से सम्मान देती हैं। तो वहीं पुरुष धोती कुर्ता या कुर्ता पजामा पहनना पसंद करते हैं। इसके अलावा कुछ पुरुष सिर पर बंधेज के प्रिंट वाली सूती कपड़े की पगड़ी भी पहनते हैं। उनके लिए पगड़ी का सिर्फ सिर ढकने वली एक टोपी की तरह नहीं होती, बल्कि इज्जत होती है।

पूरी दुनिया में मशहूर हैं यहां के आभूषण

राजस्थानी आभूषणों ना सिर्फ राजस्थान में बल्कि अब पूरे विश्व में मशहूर हो रहे हैं। ऐसा बिल्कुल नहीं है कि आभूषण केलव महिलाएं ही पहनती हैं। राजस्थान में आपको बहुत से ऐसे लोगों के गले में सोने की चेन, हाथ में पुरुषों वाली भारी सी चूड़ी और एक कान में सोने की बाली या लौंग। इधर महिलाओं के आभूषण लोक प्रसिद्ध है। राजस्थान का सबसे प्रसिद्ध और महिलाओं द्वारा सबसे ज़्यादा पसंद किया जाने वाला आभूषण है, बोरला। बोरला एक प्रकार का मांग टीका होता है जो दिखने में किसी लट्टू जैसा दिखता है। ये राजस्थान के पारंपरिक आभूषणों में से एक है। इसके अलावा महिलाएं, कमर बंद, बाजू बंद और लाख और सीप के कंगन भी पहनती हैं।

सबसे प्रसिद्ध है यहां का घूमर डांस

राजस्थानी लोक नृत्य जहां बात राजस्थानी नृत्य की आती है सबसे पहले नाम आता है घूमर का। हां वही घूमर डांस जो एक फिल्म में भी किया गया था। लेकिन हकीकत में घूमर डांस इससे काफी अलग होता है जो ज्यादातर यहां कि महिलाएं ही निपुनता से कर पाती हैं। ये नृत्य देखने में भले ही आसान लगे लेकिन करने के लिए पैरों में बहुत ताकत चाहिए होती है। इसके अलावा राजस्थान का दूसरा मशहूर लोक नृत्य है कालबेलिया डांस। पारंपरिक रूप से ये राजस्थान के बंजारनों द्वारा किया जाता है। कालबेलिया नृत्य आम लोगों द्वारा नहीं किया जा सकता क्योंकि इसमें लोगों के मनोरंजन के लिए कई खतरनाक कर्तब भी किए जाते हैं जैसे, कीलों पर खड़े होकर नाचना, आंखों से ब्लेड उठाना और एक उंगली पर थाल घुमाना। इन सब कर्तबों के लिए महीनों के अभ्यास की ज़रूरत होती है।

विदेशी पर्यटकों की रहती है पहली पसंद

राजस्थान एक ऐसा राज्य है जहां विदशी पर्यटकों का तांता लगा रहता है। यहां के किले, यहां की संस्कृति, यहां का रहन-सहन, यहां की कला विदेशी पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करती है। खासकर यहां का आमेर का किला विदेशी पर्यटकों से भरा रहता है।

Next Story