Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विधायकों के साथ पायलट ने खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा, तीन बजे होगी सुनवाई

राजस्थान की सत्ता के गलियारे में बगावत के स्वर बुलंदियों पर हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के खिलाफ दीवार खिंच गई है। इसी बीच सचिन पायलट गुट के विधायक पृथ्वीराज मीणा स्पीकर द्वारा उन्हें अयोग्य ठहराने वाला नोटिस दिए जाने के खिलाफ राजस्थान हाईकोर्ट पहुंच गए हैं। इस मामले पर आज दोपहर तीन बजे सुनवाई होगी।

विधायकों के साथ पायलट ने खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा, तीन बजे होगी सुनवाई
X
राजस्थान हाईकोर्ट

जयपुर। राजस्थान की सत्ता के गलियारे में बगावत के स्वर बुलंदियों पर हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के खिलाफ दीवार खिंच गई है। इसी बीच सचिन पायलट गुट के विधायक पृथ्वीराज मीणा स्पीकर द्वारा उन्हें अयोग्य ठहराने वाला नोटिस दिए जाने के खिलाफ राजस्थान हाईकोर्ट पहुंच गए हैं। इस मामले पर आज दोपहर तीन बजे सुनवाई होगी। हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी उनका प्रतिनिधित्व करेंगे। इससे लगता है यह मामला जल्द खत्म होने वाला नहीं है। वहीं खबर यह भी आई थी की सचिन पायलट विधानसभा अध्यक्ष द्वारा जारी नोटिस के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर सकते हैं।

इससे पहले अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच जारी मतभेद को कम कम करने के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा सक्रिय हो गई थीं। प्रियंका गांधी ने केसी वेणुगोपाल, अहमद पटेल से सचिन पायलट से बात करने को कहा है और पार्टी में वापस आने को कहा था। दूसरी ओर अशोक गहलोत अब भी सख्त रुख अपनाए हुए हैं।

बता दें कि चीफ व्हिप महेश जोशी ने विधानसभा सचिवालय में शिकायत की थी कि सचिन पायलट समेत ये विधायक पार्टी विधायक दल की बैठक से बिना सूचना दिए गैरहाजिर रहे, जबकि पार्टी ने व्हिप जारी किया था। इन पर एंटी डिफेक्शन लॉ लागू होता है। इसके तहत विधायकों की सदस्यता खत्म किए जाने का प्रावधान है। सचिन पायलट, रमेश मीणा, विश्वेंद्रसिंह, दीपेंद्रसिंह, भंवरलाल शर्मा, हेमाराम चौधरी, मुकेश भाकर, हरीश मीणा समेत 19 विधायकों को नोटिस भेजे गए थे। अब देखना यह होगा कि सुनवाई में राजस्थान हाईकोर्ट किया फैसला सुनाता है।

Next Story