Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ एक्शन मोड में राजस्थान पुलिस, जमकर हो रही कार्रवाई

राजस्थान में शराब पीकर गाड़ी चलानेवालों की अब खैर नहीं। यहां यातायात पुलिस ने ऐसे लोगों के खिलाफ अभियान चलाया है। जिसके तहत जो कोई भी शराब पीकर गाड़ी चलाता हुआ मिल रहा है उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ एक्शन मोड में राजस्थान पुलिस, जमकर हो रही कार्रवाई
X

राजस्थान पुलिस

धौलपुर। राजस्थान में शराब पीकर गाड़ी चलानेवालों की अब खैर नहीं। यहां यातायात पुलिस ने ऐसे लोगों के खिलाफ अभियान चलाया है। जिसके तहत जो कोई भी शराब पीकर गाड़ी चलाता हुआ मिल रहा है उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। यातायात पुलिस की तरफ से इस अभियान को काफी सराहना भी मिल रही है। पुलिस ने शहरी आबादी क्षेत्र में चलाए अभियान के तहत 15 दिन में 35 कार्रवाईयां की गई है। इसके अलावा शहर में जगह-जगह यातायात पुलिसकर्मियों की तैनातगी भी गई है।

शहर यातायात प्रभारी परमजीत सिंह ने बताया कि शहरी आबादी क्षेत्र में शराब पीकर वाहनों को तेज रफ्तार से चलाने की शिकायतें लगातार मिल रही थी। इस पर पुलिस ने शहर के घंटाघर रोड, हाउसिंग बोर्ड, पुलिस लाइन रोड, राजाखेड़ा बाईपास, जगन चौराहा, पुराना तोप खाना, संतर रोड व गुलाब बाग पर यातायात पुलिस की तैनातगी की गई। इसके बाद शाम छह बजे से देर रात तक अभियान चलाकर तेज रफ्तार से वाहन चलाने वालों और शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर कार्रवाईयां की गई। 15 सितंबर से शुरू किए गए अभियान में 30 सितंबर तक 35 जनों को शराब पीकर वाहन चलाते हुए पकड़ा गया है। इसके अलावा यातायात पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए गए है, कि वे शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर विशेष ध्यान रखें। यातायात प्रभारी ने बताया कि ट्रेफिक पुलिस के हाल में आठ ब्रेथ एनेलाइजर मशीनें है, जिसकी संख्या और बढ़ाई जाएंगी। इस संबंध में उच्चाधिकारियों को भी जानकारी दे दी गई है।

यातायात प्रभारी परमजीत ने बताया कि धौलपुर शहर से आगरा-मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है। ऐसे में शहर का आबादी क्षेत्र हाइवे पर बसा हुआ है। ऐसे में यातायात पुलिस कर्मियों की ओर से हाइवे से गुजरने वाले वाहनों पर भी विशेष ध्यान रखता है और इस दौरान हाइवे पर जगह-जगह पर यातायात पुलिसकर्मियों की तैनातगी की गई है। हाइवे से गुजरने वाले वाहन चालकों के खिलाफ शराब पीकर वाहन चलाने की कार्रवाई की जाती है। इसके तहत एक गाड़ी हाइवे स्पीडोमीटर की गाड़ी खड़ी रहती है, जिससे तेज गति से निकलने वाले वाहनों पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

Next Story