Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान में भाजपा सांसद रंजीता कोली पर अज्ञात बदमाशों ने किया हमला, बाल-बाल बचीं, प्रदेश में सियासत गरमाई

राजस्थान की भाजपा सांसद रंजीता कोली पर गुरुवार देर रात अज्ञातों बदमाशों ने हमला कर दिया। बदमाशों ने सांसद की गाड़ी पर पत्थरों और सरियों ने हमला किया।

राजस्थान में भाजपा सांसद रंजीता कोली पर अज्ञात बदमाशों ने किया हमला, बाल-बाल बचीं, प्रदेश में सियासत गरमाई
X

रंजीता कोली पर अज्ञात बदमाशों ने किया हमला

भरतपुर। राजस्थान की भाजपा सांसद रंजीता कोली ( Rajasthan BJP MP Ranjita Koli)पर गुरुवार देर रात अज्ञातों बदमाशों ने हमला कर दिया। बदमाशों ने सांसद की गाड़ी पर पत्थरों और सरियों ने हमला किया। गनीमत यह रही कि इस हमले में सांसद रंजीता कोली बाल-बाल बच गईं। घटना के दौरान सांसद की गाड़ी में उनके निजी सचिव और एक सुरक्षाकर्मी सवार थे। घटना से सांसद सदमे में हैं। वारदात के बाद से बीजेपी कार्यकर्ताओं में खासा अक्रोश फैला हुआ है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है, लेकिन फिलहाल उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है। हमला क्यों किया गया इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है।

अस्पताल का निरीक्षण करके वापिस लौट रही थीं सांसद

जानकारी के अनुसार, वारदात गुरुवार देर रात करीब 12 बजे की बताई जा रही है। उस समय सांसद रंजीता कोली भरतपुर जिला मुख्यालय पर स्थित आरबीएम अस्पताल (RBM Hospital) का निरीक्षण करके वापस अपने घर वैर लौट रही थीं। इसी दौरान धरसोनी गांव के करीब आधा दर्जन से अधिक अज्ञात बदमाश स्कॉर्पियो गाड़ी में सवार होकर आए। उन्होंने सांसद रंजीता कोली की चलती गाड़ी पर सरिए और पत्थरों से हमला कर दिया। हालात देखकर निजी सचिव ने सूझबूझ का परिचय देते हुए गाड़ी को समीप ही स्थित धरसोनी गांव के अंदर घुसा दिया। इससे सांसद बाल-बाल बच गईं।

हमले के बाद प्रदेश में सियासी पारा चढ़ा

भाजपा सांसद रंजीता कोली पर अज्ञात बदमाशों की ओर से हुए जानलेवा हमले को लेकर प्रदेश की सियासत गरमा गई है। प्रदेश भाजपा के नेताओं ने हमले की निंदा करते हुए गहलोत सरकार को चौतरफा घेरना शुरू कर दिया है। पार्टी नेताओं ने प्रदेश में कानून व्यवस्था का मुद्दा एक बार फिर से जोर-शोर से उठाना शुरू कर दिया है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने कहा है कि कल रात भरतपुर के वैर सीएचसी का औचक दौरा करने जा रहीसांसद रंजीता कोली पर हमला दुर्भाग्यपूर्ण है। एक तरफ रोटी मांगती महिला की अस्मत सुरक्षित नहीं, तो दूसरी तरफ़ जनप्रतिनिधि पर जानलेवा हमले हो रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के राज में राजस्थान अपराधों की राजधानी बन गया है। पूनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अब सत्ता में बने रहने का हक खो चुके हैं।

Next Story