Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान में कल से शुरू होगा विधानसभा सत्र, गहलोत बोले- 'भूल जाओ और माफ करो' की भावना के साथ आगे बढ़ें

राजस्थान में पिछले लगभग एक महीने से चल हो राजनीतिक संकट अब खत्म हो गया है। पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट और उनके गुट के विधायकों की पार्टी में वापसी के बाद यहां जारी सियासी घमासान में कमी आ गई है। वहीं कल से विधानसभा सत्र भी शुरू होने जा रहा है।

राजस्थान में कल से शुरू होगा विधानसभा सत्र, गहलोत बोले-
X
अशोक गहलोत

जयपुर। राजस्थान में पिछले लगभग एक महीने से चल हो राजनीतिक संकट अब खत्म हो गया है। पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट और उनके गुट के विधायकों की पार्टी में वापसी के बाद यहां जारी सियासी घमासान में कमी आ गई है। वहीं कल से विधानसभा सत्र भी शुरू होने जा रहा है। इसी बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बृहस्पतिवार को कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं जनप्रतिनिधियों को 'भूल जाओ और माफ करो' की भावना के साथ लोकतंत्र बचाने की लड़ाई में लगना होगा।

राजस्थान में लगभग एक महीने से जारी राजनीतिक घटनाक्रम के बीच विधानसभा का सत्र शुक्रवार से शुरू हो रहा है। गहलोत ने ट्वीट किया, 'कांग्रेस की लड़ाई तो सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में लोकतंत्र को बचाने की है। पिछले एक माह में कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी मतभेद हुआ है, उसे देश के हित में, प्रदेश के हित में, प्रदेशवासियों के हित में और लोकतंत्र के हित में हमें भुलाना होगा और माफ करके आगे बढ़ने की भावना के साथ लोकतंत्र को बचाने की लड़ाई में लगना है।'

भाजपा पर बोला तीखा हमला

उल्लेखनीय है कि सचिन पायलट एवं कांग्रेस के 18 अन्य विधायक मुख्यमंत्री गहलोत के नेतृत्व से कथित तौर पर नाराज थे और वे सोमवार को नयी दिल्ली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात के बाद लगभग एक महीने बाद जयपुर लौटे हैं। गहलोत ने ट्वीट किया, 'मैं उम्मीद करता हूं कि भूल जाओ और माफ करो की भावना के साथ 'लोकतंत्र की रक्षा करना' हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। देश में चुनी हुई सरकारों को एक-एक करके तोड़ने की जो साजिश चल रही है, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, अरुणाचल प्रदेश आदि राज्यों में सरकारें जिस तरह गिराई जा रही हैं, ईडी, सीबीआई, आयकर, न्यायपालिका का जो दुरुपयोग हो रहा है, वह लोकतंत्र को कमजोर करने का बहुत खतरनाक खेल है।'

Next Story