Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मां को कोरोना न हो जाए इसलिए 25 वर्षीय युवक ने बनाया कलाई पर बांधने वाला 'हैंड सैनेटाइजर'

राजस्थान के झालावाड़ जिले के इंजीनियरिंग में स्नातक करने वाले एक युवक ने घड़ी की तरह कलाई पर बांधा जा सकने वाला 'हैंड सैनेटाइज़र' बनाने का दावा किया है। इसका नाम ‘को रक्षक' रखा है।

मां को कोरोना न हो जाए इसलिए 25 वर्षीय युवक ने बनाया कलाई पर बांधने वाला
X

हैंड सेनिटाइजर

कोटा। राजस्थान में कोरोना वायरस का प्रकोप कुछ हद तक कम हो गया है। यहां संक्रमितों की संख्या में कमी देखी जा रही है। वहीं राज्य में लोगों के सावधानी बरतने से ही यह मुमकिन हो पाया है। वहीं कोटा में एक नौजवान ने एक ऐसी मिसाल कायम की है जिसे सुनकर आपकी उसकी तारीफ करते नहीं थकेंगे। राजस्थान के झालावाड़ जिले के इंजीनियरिंग में स्नातक करने वाले एक युवक ने घड़ी की तरह कलाई पर बांधा जा सकने वाला 'हैंड सैनेटाइज़र' (Hand Sanitiser) बनाने का दावा किया है। इसका नाम 'को रक्षक' रखा है।

स्वास्थ्यकर्मी हैं युवक की मां

पच्चीस वर्षीय एजाज़ शेख की मां स्वास्थ्य कर्मी (Health Worker) हैं और उन्हें यह चिंता लगी रहती थी कि कहीं उनकी मां कोरोना वायरस से संक्रमित न हो जाएं और इसी वजह से उन्होंने यह उपकरण बनाया है जो हमेशा कलाई पर बंधा रहेगा और जिसे एक बार खाली होने के बाद फिर से भरा जा सकता है। झालावाड़ के मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी साजिद खान ने कहा कि उनके विभाग ने इस उपकरण की 600 इकाइयां खरीदीं हैं और सरकारी केंद्रों पर नर्सों ने इसका इस्तेमाल करना शरू कर दिया है।

15mm भरा जा सकता है सेनेटाइजर

कलाई पर बांधने वाले इस बैंड में 15mm तक Sanitiser भरा जा सकता है। यह दो इंच चौड़ा और एक इंच लंबा है। शेख ने कहा कि उनके इस नवोन्मेष को राज्य के स्टार्ट-अप कार्यक्रमों (Start-up Programs) को बढ़ावा देने वाले आई-स्टार्ट के तहत पंजीकृत कराया गया है और उन्होंने उपकरण का पैटेंट कराने के लिए आवेदन दिया है। फिलहाल इसे ई-वाणिज्य वेबसाइट (e-commerce website) के जरिए बेचा जा रहा है। उन्होंने कहा कि चार बार की नाकामी के बाद उन्होंने जनवरी में इस उपकरण को बनाया था।

Next Story