Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

HC ने की डॉक्टर हड़ताल की निंदा, काम पर लौटने का दिया आदेश

जूनियर डॉक्टर हड़ताल मामले में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने हड़ताल की कड़ी निंदा करते हुए उसे अवैध घोषित कर दिया और काम पर लौटने का आदेश दिया. आदेश की अवज्ञा करने वालों पर जूडा को उनके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया. पढ़िए पूरी खबर-

nawada civil court closed until May 1 due to Coronavirus Patna High Court order
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

जबलपुर. जूनियर डॉक्टर हड़ताल मामले में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने हड़ताल की कड़ी निंदा करते हुए उसे अवैध घोषित कर दिया और 24 घंटे के डॉक्टरों को अंदर फिर से काम पर लौटने का आदेश दिया है। ऐसा नहीं करने पर जूडा को उनके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

हाईकोर्ट ने कोरोना काल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल को गलत बताया। हाईकोर्ट ने कहा कि इस अभूतपूर्व कठिन समय में डॉक्टरों को हड़ताल का सहारा नहीं लेना चाहिए था। यह एक महत्वपूर्ण समय है जब डॉक्टरों के कृत्य की सराहना की जा रही है।

ऐसे समय में हड़ताल पर जाने के लिए डब्ल्यूपी 1882/14 में सुनवाई के दौरान जूनियर डॉक्टरों को आचरण को चुनौती देने वाली एक जनहित याचिका में देखा गया है, जिसके बाद मुख्य न्यायाधीश मो. रफीक और न्यायमूर्ति सुजय पॉल ने जारी हड़ताल को अवैध घोषित कर दिया। साथ ही 24 घंटे के अंदर उन्हें काम पर लौटने के आदेश भी दिया। आदेश की अवज्ञा करने वालों पर सरकार को उनके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

बता दें कोरोना काल के बीच मध्ये प्रदेश में इमरजेंसी सेवाएं बंद हो गई थी। जूनियर डॉक्टरों ने बीते सोमवार से 6 सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल शुरू कर दी थीं। उन्होंने सरकार को रविवार तक का अल्टीमेटम दिया था और सरकार से अपनी मांगों पर लिखित में आदेश मांगा था।

Next Story