Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में लॉकडाउन लगने के बाद घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों से भरी बस पलटी, दो की मौत 8 घायल

दिल्ली में लॉकडाउन लगने के बाद बस में सवार होकर अपने घर लौट रहे थे प्रवासी मजदूर। क्षमता से ज्यादा यात्री भरे होने की वजह से पलटी बस।

दिल्ली में लॉकडाउन लगने के बाद घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों से भरी बस पलटी, दो की मौत 8 घायल
X
Accident

दिल्ली में 6 दिन का लॉकडाउन लगने के बाद अपने अपने घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों से भरी एक बस मंगलवार की सुबह ग्वालियर के पास पलट गई। हादसे में (Labour Died) दो मजदूरों की मौत हो गई। जबकि आठ से ज्यादा घायल हो गये। हादसा ग्वालियर-झांसी राजमार्ग पर जौरासी घाटी के पास एक मोड़ पर हुआ। जिसके बाद चारों तरफ चीख पुकार मच गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने स्थानिय लोगों की मदद से बस में फंसे यात्रियों को बाहर निकालकर अस्पतालों तक पहुंचाया

दरअसल, सोमवार रात को दिल्ली में लॉकडाउन (Lockdown) होने के बाद ज्यादातर मजदूर यहां से लौटने की तैयारी में जुट गये। इसबीच ही एक प्राइवेट बस प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) को लेकर मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ होते हुए छतरपुर जा रही थी। बस में लगभग 100 से भी ज्यादा लोग सवार थे। इसी दौरान ग्वालियर जिले के ग्वालियर-झांसी राजमार्ग के जौरासी घाटी मोड़ पर सुबह करीब 9 बजे यात्रियों से भरी एक बस पलट गई। हादसा इतना भयंकर था कि बस पलटते ही चीख पुकार मच गई। आवाज सुनकर दौड़े स्थानिय लोगों ने पुलिस को सूचना देकर बस में फंसे लोगों को बाहर निकाला। वहीं हादसे में दो यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि करीब 8 से ज्यादा मजदूर घायल हो गये। इन सभी घायलों को मेडिकल कॉलेज के जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सांघी ने बताया कि अन्य यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की गयी है।

बस में क्षमता के हिसाब से बहुत ज्यादा यात्री थे सवार

पुलिस अधिकक्षक ने बताया कि प्रवासियों को लेकर जा रही बस में क्षमता से कही ज्यादा लोग सवार थे। इसकी भी जांच की जाएगी। फिलहाल पुलिस ने घायलों केा अस्पताल में पहुंचाकर इलाज दिलाना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही मजदूरों को घर भिजवाने की व्यवस्था की गई है। साथ ही विभाग के अधिकारी इस घटना के बाद से अलर्ट हो गये हैं। मौके पर पहुंचे परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सेना ने कहा कि विभाग हादसे के बाद जरूरी कदम उठायेगा। दिल्ली समेत दूसरे राज्यों से लॉकडाउन के दौरान आने वाले प्रवासी मजदूरों की जानकारी मांगी जाएगी। ताकि राज्य की सीमा में आने पर उन्हें सुरक्षित घर पहुंचाया जा सके। सक्सेना ने कहा यह बस ओवरलोड थी। जिसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Next Story