Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Jammu and Kashmir: बादल फटने के बाद फिर बहाल हुई अमरनाथ यात्रा, 4026 तीर्थयात्रियों का 12वां जत्था जम्मू से रवाना

अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) सोमवार को फिर से शुरू कर दिया गया है। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में शुक्रवार को बादल फटने के कारण अमरनाथ यात्रा को रोक दिया गया था. जिसे फिर से शुरू कर दिया गया हैं. जिसके बाद जम्मू से 4,026 तीर्थयात्रियों (Pilgrims) के 12वें जत्थे को पवित्र अमरनाथ गुफा के दर्शन के लिए रवाना कर दिया है.

Jammu and Kashmir: बादल फटने के बाद फिर बहाल हुई अमरनाथ यात्रा, 4026 तीर्थयात्रियों का 12वां जत्था जम्मू से रवाना
X

अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) सोमवार को फिर से शुरू कर दिया गया है। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में शुक्रवार को बादल फटने के कारण अमरनाथ यात्रा को रोक दिया गया था। जिसे फिर से शुरू कर दिया गया हैं। जिसके बाद जम्मू से 4,026 तीर्थयात्रियों (Pilgrims) के 12वें जत्थे को पवित्र अमरनाथ गुफा के दर्शन के लिए रवाना कर दिया है।

इनमें से 3010 पहलगाम आधार शिविर जा रहे हैं जबकि 1,016 बालटाल आधार शिविर जा रहे हैं। शुक्रवार को बाढ़ आने से पहले शाम 1.13 लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने पवित्र गुफा के अंदर दर्शन किए थे। अधिकारियों ने कहा, "बाढ़ का मलबा पहले ही साफ कर दिया गया है और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force) की कड़ी सुरक्षा के बीच यहां भगवती नगर यात्री निवास से 110 वाहनों में कुल 4,026 तीर्थयात्रियों का 12वां जत्था रवाना किया गया है।

रवाना होने वाले तीर्थयात्रियों (Pilgrims) में 3,192 पुरुष, 641 महिलाएं, 13 बच्चे, 174 साधु और छह साध्वी शामिल हैं। तीर्थयात्रियों (Pilgrims) को शुरुआत में पारंपरिक पहलगाम-गुफा तीर्थयात्रा मार्ग (Pahalgam-Cave Pilgrimage Route) पर गुफा मंदिर की ओर जाने की अनुमति दी गई थी।

अधिकारी ने आगे बताया सेना ने पवित्र गुफा के बाहर एक अस्थायी सीढ़ी का निर्माण किया। पिछले शुक्रवार को बादल फटने से हुए भूस्खलन (Landslide) के कारण गुफा मंदिर की ओर जाने वाली सड़क क्षतिग्रस्त हो गई थी। बता दें 8 जुलाई को अमरनाथ गुफा (Amarnath Cave) के पास बादल फटने से अचानक आई बाढ़ में कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि 30 से अधिक लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं।

और पढ़ें
Next Story