Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल न्यूज: SMC टीचर्स को 9 महीने से नहीं मिली सैलरी, शिक्षा विभाग ने मांगा जवाब

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के 50 सरकारी स्कूल प्रधानाचार्चों ने एसएमसी शिक्षकों की सैलरी रोक दी है। आपको बता दें कि इनका वेतन (Selary) पिछले 9 महिने से रोका हुआ है। आपको बता दें हिमाचल में कई ऐसे एसएमसी अध्यापक भी हैं जिनका वेतन मिला ही नहीं है।

guest teachers
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के 50 सरकारी स्कूल प्रधानाचार्चों ने एसएमसी शिक्षकों की सैलरी रोक दी है। आपको बता दें कि इनका वेतन (Selary) पिछले 9 महिने से रोका हुआ है। आपको बता दें हिमाचल में कई ऐसे एसएमसी अध्यापक भी हैं जिनका वेतन मिला ही नहीं है। ऐसे में अब यह मामला शिक्षा विभाग (Himachal Education Department) के पास पहुंचा है। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने जिला उपनिदेशकों को नोटिस जारी किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुबातिक, शिक्षा विभाग ने जिले से रिपोर्ट मांगी है कि कितने एसएमसी शिक्षकों का अभी तक वेतन नहीं मिल पाया है। यह जानकारी शिक्षा विभाग ने स्कूलों के प्रधानाचार्यों से मांगी है। फिलहाल शिक्षा विभाग के पास 50 स्कूलों की शिकायत मिली है, जिन्होंने एसएमसी शिक्षकों का वेतन पिछले साल जून व जुलाई से लेकर अभी तक जारी नहीं किया है। ये स्कूल चंबा, कांगड़ा, शिमला, बिलासपुर व मंडी जिला के बताए जा रहे हैं।

वहीं शिक्षा विभाग ने साफ किया है कि इस मामले पर लापरवाही होने पर संबंधित एसएमसी प्रधान से भी जवाब तलब किया जाएगा। राज्य के सरकारी स्कूलों में 2555 एसएमसी शिक्षक छात्रों को पढ़ा रहे हैं। कोरोना काल में भी एसएमसी शिक्षकों ने ऑनलाइन स्टडी के माध्यम से अपनी पढ़ाई को जारी रखा था।

हालांकि उसके बाद सरकार ने एसएमसी शिक्षकों को राहत देते हुए उनकी एक्स्टेंशन को भी बहाल कर दिया था, इसके साथ ही कोविड काल के वेतन को जारी करने पर भी हरी झंडी दे दी थी। पर एसएमसी शिक्षकों को वेतन नहीं दिया है। एसएमसी शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष मनोज रांग्टा का कहना है कि लंबे समय से एसएमसी शिक्षकों की इस तरह से अनदेखी की जाती है। आरोप लगाया कि कई प्रधानाचार्य ऐसे हैं, जो बजट होने के बावजूद वेतन जारी नहीं कर रहे हैं।

Next Story