Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल से विदा हुआ मानसून, जानिए सामान्य से कितने फीसदी कम हुई बारिश

हिमाचल प्रदेश से मॉनसून की विदाई हो गई है। 30 सितंबर को सूबे से मॉनसून रुखसत हो गया है। इस सीजन में सामान्य से 26 फीसदी कम बारिश हुई है। वहीं, बीते सीजन के मुकाबले 16 फीसद कम बारिश दर्ज की गई है।

हिमाचल से विदा हुआ मानसून, जानिए सामान्य से कितने फीसदी कम हुई बारिश
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश से मॉनसून की विदाई हो गई है। 30 सितंबर को सूबे से मॉनसून रुखसत हो गया है। इस सीजन में सामान्य से 26 फीसदी कम बारिश हुई है। वहीं, बीते सीजन के मुकाबले 16 फीसद कम बारिश दर्ज की गई है। बीते साल मॉनसून 11 अक्तूबर को विदा हुआ था और बारिश सामान्य से 10 फीसदी कम हुई थी। वर्ष 2019 में बारिश सामान्य से 10 फीसदी कम हुई थी। इस साल मानसून सीजन में सिर्फ तीन जिलों बिलासपुर, कुल्लू और ऊना में सामान्य बारिश हुई है, जबकि सूबे के शेष नौ जिलों में सामान्य से कम बादल बरसे हैं।

सूबे के लाहौल-स्पीति जिले में सबसे कम सामान्य से 73 फीसदी कम बारिश हुई है। चंबा में सामान्य से 55 फीसदी, हमीरपुर में 20, कांगड़ा में 24, किन्नौर में 54, मंडी में 23, शिमला में 29, सिरमौर में 37 और सोलन में 21 फीसदी कम बारिश दर्ज की गई है। गौरतल है कि प्रदेश में 24 जून को मॉनसून ने प्रवेश किया था। 30 सितंबर तक प्रदेश में 567 मिलीमीटर बादल बरसे। इस अवधि में सामान्य बारिश 763 मिलीमीटर मानी गई है। सितंबर में इस साल सिर्फ दो दिन, चार और सात सितंबर को बारिश हुई थी और शेष पूरे माह मौसम शुष्क रहा।

आम तौर पर मॉनसून 25 सितंबर को हिमाचल से विदा होता है। लेकिन इस साल पांच दिन ज्यादा मानसून रहा। आंकड़ों के अनुसार, 17 साल बाद सितंबर में इस साल कम बारिश देखी गई है। जो कि सामान्य से 77 फीसदी कम है। इससे पहले, साल 2004 में सामान्य से 71 फीसदी कम बारिश हुई रिकॉर्ड हुई थी। सूबे में इस साल केवल बिलासपुर में सामान्य से नौ फीसदी, कुल्लू में पांच फीसदी और ऊना में 10 फीसदी अधिक पानी बरसा है।


Next Story