Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेवाड़ी : दिन में शहर में उठाते कूड़ा और रात में लेकर आते थे स्मैक

रेवाड़ी (Rewari) में एक बार फिर स्मैक का कारोबार फैल चुका है। आरोपितों के कब्जे से एक लाख रुपए की स्मैक और एक ईको कार बरामद की गई है। आरोपितों की पहचान कोलकाता (Kolkata) के दोउदपुर निवासी मोहम्मद हुसैन, शेख मोहम्मद व शाहरूख उर्फ छोटू के रूप में हुई है।

रेवाड़ी : दिन में शहर में उठाते कूड़ा और रात में लेकर आते थे स्मैक
X
रेवाड़ी। आरोपितों से बरामद की गई इको गाड़ी।

हरिभूमि न्यूज : रेवाड़ी

शहर में एक बार फिर स्मैक का कारोबार (Smack business) फैल चुका है। सीआईए रेवाड़ी की टीम ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) की राजधानी कोलकाता के रहने वाले तीन ऐसे युवकों को पकड़ा है, जो दिनभर शहर में कूड़ा उठाते थे और रात (Night) में स्मैक की सप्लाई (Supply) करते थे। आरोपितों के कब्जे से एक लाख रुपए की स्मैक और एक ईको कार बरामद की गई है। आरोपितों(Accused) की पहचान कोलकाता के दोउदपुर निवासी मोहम्मद हुसैन, शेख मोहम्मद व शाहरूख उर्फ छोटू के रूप में हुई है। आरोपितों में दो सगे भाई है। दो आरोपित वर्तमान में कंटेनर डिपो के निकट झुग्गियों में रहते थे तथा एक आरोपित विजय नगर में रह रहा था।

सोमवार की रात को सीआईए रेवाड़ी की टीम शहर के आईओसी चौक पर गश्त कर रही थी। इसी दौरान सूचना मिली कि कुछ युवक एक ईको कार में स्मैक लेकर कंटेनर डिपो के पास आने वाले है। सूचना के आधार पर सीआईए स्टाफ ने कंटेनर डिपो के निकट नाकाबंदी कर दी। इसी दौरान एक ईको कार आती हुई दिखाई दी। पुलिस टीम ने कार को रोकने का इशारा किया, परंतु चालक ने कार को वापस मोड़ कर भागने का प्रयास किया। सीआईए टीम ने कार चालक सहित तीन को मौके पर ही काबू कर लिया। सूचना के बाद डीएसपी मोहम्मद जमाल भी मौके पर पहुंच गए। डीएसपी के समक्ष तलाशी लेने पर आरोपित मोहम्मद हुसैन से दस मिलीग्राम, शेख रफिक से 15 मिलीग्राम व शाहरूख उर्फ छोटू से 14.570 मिलीग्राम स्मैक बरामद कर ली।

दिल्ली से लेकर आए थे स्मैक

पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वह दिल्ली से स्मैक लेकर आए थे। आरोपित खुद भी स्मैक का नशा करते है। आरोपित मोहम्मद हुसैन वर्तमान में विजय नगर में रहता है, जबकि शेख मोहम्मद व शाहरूख उर्फ छोटू सगे भाई है और कंटेनर डिपो के पास झुग्गियों में रहते है। बरामद की गई ईको कार आरोपित मोहम्मद हुुसैन की है। तीनों ही आरोपित दिन के समय कूड़ा बिनने का काम करते है ताकि किसी को संदेह न हो। तीनों ही पढ़े लिखे भी नहीं है। आरोपितों के खिलाफ मॉडल टाउन थाना एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

दिल्ली से ही पहुंच रही खेप

शहर में स्मैक का चलन कोई नया नहीं है, लेकिन कोरोना महामारी के चलते हुए लॉकडाउन में धंधा बंद हो गया था, लेकिन अनलॉक के बाद से स्मैक का अवैध कारोबार फिर से शुरू हो गया है। खासकर युवा पीढ़ी इस नशे की दलदल में फंस रही है। स्मैक तस्कर दिल्ली के जरिए रेवाड़ी तक स्मैक की खेप पहुंचा रहा है। शहर के कई गली-मोहल्लों में स्मैक बेची जा रही है। स्मैक पीने और बेचने वाले कई अपराधिक वारदातों में भी संलिप्त रहे है।

बर्बाद हो रही युवा पीढ़ी

सुल्फा और स्मैक ये दोनों ही नशे का कुछ सालों में तेजी से चलन बढ़ा है। अपराधिक किस्म के लोग दोनों ही नशा बेचने का काम कर रहे है। नशे की दलदल में युवा पीढ़ी फंस रही है। महंगी कीमत पर मिलने वाली स्मैक और एमडी नामक नशे के कारण कई परिवार तबाह भी हो चुके है। उसके बावजूद इस नशे की गिरफ्त में काफी लोग आ चुके है।

तीन युवकों को काबू किया

सूचना के बाद सीआईए स्टाफ द्वारा स्मैक सहित तीन युवकों को काबू किया है। तीनों से पूछताछ की जा रही है तथा नशा तस्करी के नेटवर्क को खंगाला जा रहा है। जल्द ही और भी आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा। - विद्यासागर, इंचार्ज सीआईए रेवाड़ी।


Next Story
Top