Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ट्रैक्टर परेड : पैरामिल्ट्री फोर्स व पुलिस के 2100 जवान संभालेंगे सुरक्षा की कमान

इनके नेतृत्व में ही पैरामिल्ट्री फोर्स की 13 टुकडि़यां और हरियाणा पुलिस की 9 कंपनियां तैनात की गई है। पैरामिल्ट्री फोर्स व पुलिस के करीब 2100 जवान सुरक्षा की कमान संभालेंगे।

ट्रैक्टर परेड : पैरामिल्ट्री फोर्स व पुलिस के 2100 जवान संभालेंगे सुरक्षा की कमान
X

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत। कृषि कानूनों के विरोध में 26 जनवरी को निकाले जाने वाली ट्रैक्टर तिरंगा परेड पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के लिए पुलिस ने खाका तैयार कर लिया है। सोनीपत के पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा के साथ ही दो एएसपी, पांच डीएसपी और 17 इंस्पेक्टर पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रखने की जिम्मेदारी रहेगी।

इनके नेतृत्व में ही पैरामिल्ट्री फोर्स की 13 टुकडि़यां और हरियाणा पुलिस की 9 कंपनियां तैनात की गई है। पैरामिल्ट्री फोर्स व पुलिस के करीब 2100 जवान सुरक्षा की कमान संभालेंगे।

इसके अलावा शहर, कस्बों व जीटी रोड पर करीब 25 नाके लगाए गए हैं, जहां हर आने-जाने वालों पर पुलिस नजर रखेगी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद हैं, अगर आवश्यकता हुई तो ड्रोन से भी निगरानी रखी जाएगी।

बता दें कि किसान नेता गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। जिसे लेकर कुंडली बॉर्डर व जिले में पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं। ट्रैक्टर परेड में शामिल होने के लिए हरियाणा-पंजाब से लगातार ट्रैक्टर पहुंच रहे हैं।

पुलिस ने परेड को निर्धारित रूट पर चलाने के लिए पुलिस व पैरामिल्ट्री फोर्स की 22 कंपनियां तैनात कर दी हैं। इसके अलावा पुलिसकर्मी सादा कपड़ों में भी तैनात किए गए हैं। ताकि कहीं पर भी कोई कमी ना रह सके।

सभी डीएसपी हाईवे पर रहकर व्यवस्था देख रहे हैं। पुलिस और सुरक्षा बलों के सामने ट्रैक्टर परेड में हजारों की भीड़ को नियंत्रित करना बड़ी चुनौती रहेगा। हालांकि पुलिस अधिकारियों का कहना है कि सुरक्षा व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

पुलिस की 25 पैट्रोलिंग टीमें गठित

पुलिस अधीक्षक ने सुरक्षा व यातायात व्यवस्था को बेहतर रखने के लिए 25 नाके लगवाए हैं। जिसमें करीब 12 नाके नेशनल हाईवे पर लगे हैं। 06 नाके बहालगढ़ क्षेत्र में लगे हैं। इसके साथ ही शहर में कई स्थानों पर नाके स्थापित किए गए हैं। जिससे अन्य मार्गों से आने वाले वाहनों को आसानी से निकाला जा सके। पुलिस की 25 पेट्रोलिंग टीमों का भी गठन किया गया है। ये टीम लगातार गश्त करते हुए व्यवस्था को संभालेंगी। हर संदिग्ध पर नजर रखी जाएगी।



Next Story