Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अभी भी हरियाणा के गन्ना किसानों का उत्तराखंड की चीनी मिल में करोड़ों बकाया

वर्ष 2016-17 में गन्ना पेराई सत्र के दौरान हरियाणा प्रदेश में चीनी मिलों द्वारा गन्ने की पेराई न होने पर प्रदेश के काफी किसानों द्वारा उत्तराखंड में इकबालपुर चीनी मिल में अपना गन्ना डाला गया था।

Sugarcane farmer
X

गन्ना किसान

हरिभूमि न्यूज : गोहाना

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) ने उत्तराखंड में इकबालपुर चीनी मिल में फंसी हुई हरियाणा के किसानों की करोड़ों रुपये की गन्ने की पेमेंट दिलवाने की मांग की है। भाकियू द्वारा चीनी मिल से गन्ने की पेमेंट दिलवाने के लिए बृहस्पतिवार को एसडीएम के माध्यम से प्रधानमंत्री और प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया।

भाकियू के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यवान नरवाल ने बताया कि वर्ष 2016-17 में गन्ना पेराई सत्र के दौरान हरियाणा प्रदेश में चीनी मिलों द्वारा गन्ने की पेराई न होने पर प्रदेश के काफी किसानों द्वारा उत्तराखंड में इकबालपुर चीनी मिल में अपना गन्ना डाला गया था। प्रदेश के किसानों द्वारा इस चीनी मिल में करीब 40 करोड़ रुपये का गन्ना डाला गया था।

प्रदेश उपाध्यक्ष नरवाल के अनुसार इस पेमेंट में से आज भी हरियाणा के किसानों की करोड़ रुपये की पेमेंट चीनी मिल की तरफ बकाया है। चीनी मिल से पेमेंट करवाने की मांग को लेकर भाकियू द्वारा कई बार सरकार से अनुरोध किया जा चुका है लेकिन अब तक चीनी में फंसी हुई पेमेंट नहीं करवाई गई।

नरवाल ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा कंपनी की ओर भी प्रदेश के किसानों की सैकड़ों करोड़ रुपये की फसल खराबे की पेमेंट बकाया है। उन्होंने कहा कि सरकार दोनों जगह फंसी हुई किसानों की उक्त पेमेंट जल्द करवाए।

Next Story