Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sonipat : सात मुस्लिम परिवारों ने अपनाया हिंदू धर्म

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मंडल प्रमुख सुमित अत्री (Sumit Attri) ने भागवत गीता और महाभारत (Mahabharata) की पवित्र पुस्तके भेंटकर स्वागत किया।

Sonipat : सात मुस्लिम परिवारों ने अपनाया हिंदू धर्म
X
मुस्लिम धोबी से हिन्दू धोबी बने परिवार को संघ के मंडल प्रमुख सुमित अत्री भागवत गीता देकर स्वागत करते हुए।

हरिभूमि न्यूज. गन्नौर

भोगीपूर गांव में मुस्लिम धोबी परिवारों ने बिना किसी दवाब (pressure) के हिन्दू धर्म को अपनाया है। करीब सात परिवारों ने मुस्लिम धर्म से हिन्दू धर्म में वापसी कर हिन्दू धोबी बने है। परिवार का नेतृत्व करने वाले सुरेश ने बताया कि उनके घर परिवार में पहले भी न तो नमाज (Namaz) करते थे और मन्दिर में ही पूजा करते थे। केवल उनके मुस्लिम धर्म के दो रिवाज थे। एक तो शादी मुस्लिम समुदाय में करते थे और दाह संस्कार भी मुस्लिम रीति रिवाज से करते थे।

उनके परिवार में सभी बच्चों व उनके नाम भी हिन्दू परिवार की तरह है। वे शुरू से ही परिवार गौत्र लगाते थे। अब भी पवार ही लगाएंगे। अब उनके परिवार में शिक्षित नौजवान बच्चों को कुछ हिन्दू व मुस्लिम रिति रिवाजों की का पता चला कि परिवार कुछ हिन्दू व कुछ मुस्लिम धोबी रीति - रिवाज के साथ चल रहा है तो सभी ने सहमत होकर पूरे परिवार ने बिना किसी दबाब के हिन्दू धर्म को अपनाया है।

अब वे एक ही धर्म के सभी रीति रिवाज को अपनाएंगे। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मंडल प्रमुख सुमित अत्री ने भावगत गीता और महाभारत की पवित्र पुस्तके भेंटकर स्वागत किया। रविवार को सुबह जिन परिवरों ने मुस्लिम धोबी से हिन्दू धर्म में आस्था व्यक्त की है। उनमें सेवानिवृत सब इंस्पैक्टर दिल्ली बलबीर सिंह, सुरेश कुमार, रमेश कुमार, बिजेन्द्र, अशोक, दीपक, सुनील, अमित कुमार, रोहित, मनोज कुमार, जोगेन्द्र व योगेन्द्र सहित ने अपनी पत्नी व बच्चों के साथ आस्था व्यक्त की।

हिन्दू धर्म में आस्था व्यक्त करने पर राष्ट्रीय स्चयं सेवक संघ के राजपुर मंडल प्रमुख सुमित अत्री, नीरज, ओमबीर प्रजापत, अनिल राठी, गांव के सरपंच संजय, पंच सुबे सिंह, पूर्व प्रधानाचार्य खेमकरण शर्मा, सेवानिवृत सचिव भूप सिंह राठी, पूर्व प्रधानाचार्य प्रेम सिंह राठी, धर्म सिंह, रमेश, पूर्व प्रधान विरेन्द्र, जयपाल, नरेन्द्र आदि ग्रामीण मौजूद थे।


Next Story