Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फर्जी कागजातों के आधार पर 5 साल तक बुढ़ापा पेंशन लेता रहा दंपती, अब ऐसे हुआ खुलासा

जो दस्तावेज पेंशन बनवाने के दौरान लगाए थे, उसमें स्कूल प्रमाण पत्र किसी दूसरे व्यक्ति का था। आधार कार्ड व पैन कार्ड में भी जन्मतिथि के साथ छेड़छाड़ कर गलत दर्शाया गया था।

फर्जी कागजातों के आधार पर 5 साल तक बुढ़ापा पेंशन लेता रहा दंपती, अब ऐसे हुआ खुलासा
X

Old Age Pension

हरिभूमि न्यूज. जींद

फर्जी कागजातों के आधार पर बुढापा पेंशन लेने पर सदर थाना नरवाना पुलिस ने दंपती के खिलाफ धोखाधड़ी, फर्जी कागजातों का सहारा लेने सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। दंपती पिछले पांच साल से फर्जी कागजातों के आधार पर बुढापा पेंशन ले रहा था। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सीएम फ्लाइंग को सूचना मिली थी कि गांव झील निवासी बलिंद्र उर्फ वीरेंद्र तथा उसकी पत्नी सेवा देवी फर्जी कागजातों के आधार पर वर्ष 2016-17 से बुढापा पेंशन ले रहे हैं। सीएम फ्लाइंग द्वारा बलिंद्र उर्फ वीरेंद्र के कागजातों को जांचा गया तो उसमें आधार कार्ड व अन्य दस्तावेज लगाए हुए थे। जिसमें उसकी जन्मतिथि एक जनवरी 1946 दर्शाई गई थी। सीएम फ्लाइंग ने जब दस्तावेजों को जांचा तो उसका जन्म 1956 में पाया गया। जो दस्तावेज बलिंद्र ने पेंशन बनवाने के दौरान लगाए थे, उसमें स्कूल प्रमाण पत्र किसी दूसरे व्यक्ति का था। इसी प्रकार बलिंद्र की पत्नी सेवा देवी के पेंशन दस्तावेजों को खंगाला गया तो उसमें जन्मतिथि एक जनवरी 1949 दिखाई गई। जो बेटे के स्कूल प्रमाण पत्र के आधार पर उसके बेटे की जन्मतिथि 25 जनवरी 1973 दिखाई गई थी।

सीएम फ्लाइंग ने जब जांच की तो सेवा देवी द्वारा प्रस्तुत किया गया बेटे का स्कूल प्रमाण पत्र रोशन नाम के व्यक्ति के बेटे का था। आधार कार्ड व पैन कार्ड में भी जन्मतिथि के साथ छेड़छाड़ कर गलत दर्शाया गया था। सेवा देवी 29 अगस्त 2016 से बुढापा पेंशन ले रही थी जबकि उसका पति बलिंद्र नौ अगस्त 2017 से बुढापा पेंशन ले रहा था। सीएम फ्लाइंग द्वारा की गई जांच रिपोर्ट के आधार पर सदर थाना नरवाना पुलिस ने बलिंद्र तथा उसकी पत्नी सेवा देवी के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में ख्यानत, फर्जी कागजातों का सहारा लेने समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। सदर थाना नरवाना के जांच अधिकारी कुलदीप सिंह ने बताया कि सीएम फ्लाइंग द्वारा दंपत्ति की बुढापा पैंशन की जांच की गई थी। जिसमें दोनों द्वारा फर्जी कागजातों का सहारा लेना पाया गया। जिसके आधार पर दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

Next Story