Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ayushman Bharat Yojana : प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में अब ये लोग भी हो सकेंगे शामिल

इस योजना के अंतर्गत 2011 में हुए सामाजिक-आर्थिक जातीय जनगणना पर चयनित किया गया था। यदि इन परिवारों में 2011 के बाद विवाह अथवा जन्म के माध्यम से किसी नए सदस्य का आगमन होता है तो वह भी इस योजना का लाभार्थी है, जिसके लिए जन्म प्रमाण पत्र व विवाह प्रमाण-पत्र देकर योजना में शामिल हो सकता है।

Ayushman Bharat Yojana : प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में अब ये लोग भी हो सकेंगे शामिल
X

आयुष्मान योजना

हरिभूमि न्यूज. कैथल

उपायुक्त प्रदीप दहिया ने बताया कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) के तहत असहाय परिवारों की बीमारियों का मुफ्त में इलाज (Treatment) करवाया जाता है। इस योजना के तहत प्रति परिवार को प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का मुफ्त में स्वास्थ्य बीमा (Health insurance) प्रदान किया जाता है।

उपायुक्त प्रदीप दहिया ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवंबर 2018 में असहाय परिवारों की बीमारियों का फ्री में इलाज करने के लिए लागू की थी। कुछ परिवार गरीबी के कारण अपनी बीमारियों का इलाज करवाने में असमर्थ थे तथा बीमारियों के इलाज पर होने वाले महंगे खर्चों की वजह से ये परिवार गरीबी और कर्ज के दलदल में गहरे धंसते जा रहे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) को शुरू करके उनको कर्ज के दलदल में धंसने से बचाया है। इस योजना के अंतर्गत 2011 में हुए सामाजिक-आर्थिक जातीय जनगणना पर चयनित किया गया था। यदि इन परिवारों में 2011 के बाद विवाह अथवा जन्म के माध्यम से किसी नए सदस्य का आगमन होता है तो वह भी इस योजना का लाभार्थी है, जिसके लिए जन्म प्रमाण पत्र व विवाह प्रमाण-पत्र देकर योजना में शामिल हो सकता है।

उन्होंने कहा कि यह योजना पूर्णतया कैशलैस है, लाभार्थी व्यक्ति कवल अपना आयुष्मान भारत कार्ड दिखाकर ही पैनल पर लिए गए निजी अथवा सरकारी अस्पतालों में अपना मुफ्त में इलाज करवा सकते हैं। आयुष्मान भारत कार्ड बनवाने हेतु लाभार्थी किसी भी अटल सेवा केंद्र पर जाकर अपने पहचान पत्र, राशन कार्ड दिखाकर बनवा सकता है। इसके लिए पैनल पर लिए गए निजी अस्पतालों तथा सरकारी अस्पतालों में भी यह कार्ड मुफ्त में बनवा सकते हैं।

उन्होंने बताया कि इस योजना की अनूठी विशेषता पोर्टबिल्टी है यानि चाहे मरीज किसी भी राज्य का हो, वह किसी भी राज्य के पैनल पर लिए गए निजी अथवा सरकारी अस्पतालों में अपना मुफ्त में इलाज करवा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत जिला कैथल के 15 अस्पताल पैनल पर हैं, जिनमें 7 सरकारी व 8 निजी अस्पताल हैं। सरकारी अस्पतालों में जिला नागरिक अस्पताल कैथल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कलायत, सीवन, गुहला, राजौंद, पूंडरी व कौल तथा निजी अस्पतालों में शाह अस्पताल, सिगनस अस्पताल, जयपुर अस्पताल, जयप्रकाश, कंसल, मित्तल व जैन अस्पताल शामिल हैं। कोई भी लाभार्थी इन अस्पतालों में जाकर अपना आयुष्मान भारत कार्ड दिखाकर अप्रूवड पैकजों पर इलाज करवा सकता है। सरकार द्वारा 1400 से अधिक पैकेज इस योजना के अंतर्गत बनाए गए हैं, जिनमें गंभीर बीमारियां संबंधित इलाज के पैकेज भी शामिल हैं। सरकार द्वारा न सिर्फ मुफ्त इलाज की सुविधा दी जा रही है, अपितु इलाज की गुणवत्ता पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है।

Next Story