Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नवदीप कौर को जमानत, जेल से छूटते ही बोली- सोनीपत पुलिस ने अत्याचार किया, प्रधानमंत्री जी न्याय दिलाओ

जस्टिस अवनीश झिंगन ने नौदेप कौर को नियमित जमानत देते हुए कहा कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन की एक महीन रेखा होती है, उस रेखा का उलंघन करने से विरोध का रंग बदल जाता है।

नवदीप कौर को जमानत, जेल से छूटते ही बोली- सोनीपत पुलिस ने अत्याचार किया, प्रधानमंत्री जी न्याय दिलाओ
X
हरियाणा हाईकोर्ट

मजदूरों के हक के लिए आवाज उठाने वाली 23 वर्षीय नवदीप कौर हाईकोर्ट ने इस नसीहत के साथ नियमित जमानत दे दी है कि वह जमानत के दौरान कानून व्यवस्था को बनाए रखेंगी। इसी टिपण्णी के साथ हाईकोर्ट ने नौदीप कौर को सीजेएम/ इलाका मजिस्ट्रेट के समक्ष श्योरिटी बांड भर जमानत लिए जाने के आदेश दे दिए हैं।

जस्टिस अवनीश झिंगन ने नौदेप कौर को नियमित जमानत देते हुए कहा कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन की एक महीन रेखा होती है, उस रेखा का उलंघन करने से विरोध का रंग बदल जाता है। सुप्रीम कोर्ट भी कह चूका है कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन प्रत्येक का अधिकार जरूर है, लेकिन इसके साथ कुछ पाबंदियां भी हैं, जिसका उलंघन नहीं किया जाना चाहिए। हाईकोर्ट ने कहा कि वह इस केस के तथ्यों पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं कि इस मामले में इस रेखा का उलंघन हुआ है या नहीं। यह ट्रायल कोर्ट देखेगा। याचिकाकर्ता पर आईपीसी की धारा- 307, 332, 353 और 379-बी लगाई गई है, जिस पर ट्रायल कोर्ट ही सभी सबूतों और तथ्यों को देखने के बाद निर्णय करेगा। याचिकाकर्ता 12 जनवरी से हिरासत में है और अब उसे और ज्यादा हिरासत में रखे जाने की जरुरत नहीं है। इसी आधार पर हाईकोर्ट ने नौदीप कौर को नियमित जमानत देते हुए उसे बड़ी राहत दे दी है।

करनाल जिले की जेल में बंद नवदीप कौर को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद देर रात करीब 8 बजे जेल प्रशासन ने जेल से रिहा किया। जिसके बाद नवदीप कौर ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि सोनीपत पुलिस ने उसके खिलाफ जो वीडियों पेश की है, उस वीडियों को एडिट करके पेश किया गया है। आज के समय में अमीर-गरीब का पहाड़ा बहुत ज्यादा बढ़ गया है। नवदीप कौर ने कहा कि उसने न तो पहले कुछ गलत किया है, न ही आगे कुछ गलत करेगी। नवदीप कौर ने कहा कि सोनीपत पुलिस ने उसके उपर बहुत अत्याचार किए है, उसे बहुत बुरे तरीके से टार्चर किया है। नवदीप ने प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि किसान न्याय मांग रहे है, उन्हें जल्द से जल्द न्याय दिया जाए। महिला आयोग की अध्यक्ष द्वारा लगाए गए जेल में अन्य बंदियों से बदसलुखी के आरोप को नकारते हुए नवदीप ने कहा कि करनाल जेल प्रशासन से उसके रिकाड़ लिया जाए, उससे साफ हो जाएगा कि उसने किसी के साथ बदसलुखी नहीं की है। वहीं जेल में किसी से मिलने न देने के सवाल पर नवदीप ने कहा कि कोरोना के कारण उसकी 2 मुलकात पहले ही हो चुकी थी, जिस कारण किसी और को नहीं मिलने दिया।

12-13 जनवरी की रात से बंद है करनाल जेल में

नवदीप कौर पर कुंडली में तीन एफआईआर दर्ज है, उन पर अवैध वसूली व पुलिस कर्मचारियों के साथ मारपीट के कई गंभीर आरोप है। इन आरोपों के चलते नवदीप कौर को गिरफ्तार कर 12-13 जनवरी की रात से हरियाणा के करनाल जिला की जेल में बंद है। नवदीप कौर उन मजदूरों की आवाज उठा रही थी, जिनके वेतन लंबित थे। इसके अलावा नवदीप कौर तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग ले रही थी। नवदीप कौर पंजाब के मुक्तसर की रहने वाली है।



Next Story