Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Online Admission : महाविद्यालयों में कितनों ने किया आवेदन, नहीं हो रही जानकारी

अभी तक उच्चतर शिक्षा निदेशालय की की तरफ से पोर्टल का लिंक राजकीय महाविद्यालयों को नहीं दिया गया है जिससे यह पता लगाया जा सके कि महाविद्यालयों में कितने छात्रों ने आवेदन किए हैं

Online Admission : महाविद्यालयों में कितनों ने किया आवेदन, नहीं हो रही जानकारी
X

राजकीय महाविद्यालय। 

हरिभूमि न्यूज. जींद

राजकीय महाविद्यालयों में दाखिले (Admission) को लेकर प्रक्रिया लगातार जारी है। पर अभी तक उच्चतर शिक्षा निदेशालय की की तरफ से पोर्टल का लिंक राजकीय महाविद्यालयों को नहीं दिया गया है जिससे यह पता लगाया जा सके कि महाविद्यालयों में कितने छात्रों ने आवेदन किए हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि शीघ्र ही यह पोर्टल का लिंक मिल जाएगा। वहीं बुधवार से ऑनलाइन डॉक्यूमेंटस वेरिफिकेशन का कार्य शुरू नहीं हो पाया है।

उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से राजकीय महाविद्यालयों को एडमिशन पोर्टल का लिंक उपलब्ध नहीं करवाया गया है जिससे पता लगाया जा सके कि किस महाविद्यालय में कितने आवेदन मिले हैं। किस विषय के लिए कितने छात्रों ने आवेदन किया है। हालांकि पहले आवेदन प्रक्रिया के साथ ही महाविद्यालयों को यह लिंक उपलब्ध करवा दिया जाता था लेकिन इस बार यह ऐसा नहीं किया गया है। गत 16 अगस्त से आवेदन प्रक्रिया शुरू है और छात्र 26 अगस्त तक आवेदन कर सकते हैं। हालांकि बुधवार से ही ऑनलाइन डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया शुरू होनी थी जोकि शुरू नहीं हो पाई है।

विश्वविद्यालय के हिसाब से विद्यार्थियों का पात्रता मापदंड पोर्टल से उठेगा

उच्चतर शिक्षा विभाग ने पोर्टल में एक नया टैब जोड़ा है जो दाखिला प्रक्रिया में विद्यार्थियों के कॉलेज चुनते ही संबंधित विश्वविद्यालय के क्राइटेरिया को लागू कर देगा। विद्यार्थी के आवेदन करते समय अब सॉफ्टवेयर विश्वविद्यालय के हिसाब से ही विद्यार्थियों का पात्रता मापदंड पोर्टल से उठाएगा। जो कॉलेज जिस विश्वविद्यालय से मान्यता प्राप्त होगा उसमें उसी के पात्रता मापदंड (एलिजिब्लिटी क्राइटेरिया) तय होंगें। नए टैब संबंधित सूचना सभी नोडल अधिकारियों के पास भेजे गए हैं।

डॉक्यूमेंट अपलोड करने में लग रहा है समय

राजकीय महाविद्यालयों में दाखिले को लेकर प्रक्रिया जारी है। हालांकि कई तरह के डॉक्यूमेंट अपलोड करते हुए बच्चों को आवेदन प्रक्रिया में 15 मिनट तक का समय लग रहा है लेकिन कई बार ऑनलाइन फॉर्म का सर्वर टाइमआउट हो जाता है। जिससे आवेदन की वही प्रक्रिया फिर से करनी पड़ती है। परिवार पहचान पत्र में नाम की मिसमेचिंग भी विद्यार्थियों की समस्या बढ़ा रही है। सभी तरह के डॉक्यूमेंट परिवार पहचान पत्र से ऑनलाइन जोड़ दिए गए हैं परिवार पहचान पत्र मेें विवरण संबंधी कुछ भी खामी हो तो इसका असर एडमिशन आवेदन पर पड़ रहा है। छात्रा टीना, वैशाली, सुप्रिया ने बताया कि उच्चतर शिक्षा निदेशालय को चाहिए कि पोर्टल से फैमिली आईडी अपलोड को फिलहाल हटवा दिया जाए। इसे बाद में मैनुअली बच्चों से ले लिया जाए ताकि बच्चे अपनी दाखिला प्रक्रिया को पूरा कर सकें।

आवेदन जांचने को लेकर नहीं हुआ लिंक उपलब्ध : सीमा

राजकीय महाविद्यालय की नोडल अधिकारी सीमा ने बताया कि अब तक एडमिशन पोर्टल का लिंक उपलब्ध नहीं हुआ है जिससे यह नहीं पता चल रहा है कि महाविद्यालय में कितने आवेदन आए हैं। इसके अलावा ऑनलाइन डॉक्यमेंटस वेरिफिकेशन भी शुरू नहीं हुई है। आगामी 26 अगस्त तक विद्यार्थी एडमिशन के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। छात्रों को दाखिला आवेदन को लेकर जो समस्याएं आ रही हैं उससे अवगत करवा सकते हैं।

Next Story