Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नारनौल : शराब पीकर हुडदंग कर रहे थे, पुलिस में दी शिकायत तो कर दिया पूरे परिवार पर हमला

घायलों को उपचार के लिए नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया। परंतु गंभीर हालत के चलते प्राथमिक उपचार के बाद उनको हायर सेंटर रेफर कर दिया। इसके बाद परिजन उन्हें जयपुर लेकर चले गए। जहां अस्पताल में उपचार किया जा रहा है।

नारनौल : शराब पीकर हुडदंग कर रहे थे, पुलिस में दी शिकायत तो कर दिया पूरे परिवार पर हमला
X
नारनौल। अस्पताल में उपचाराधीन घायल युवक।

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

घर के पास शराब पीकर हुडदंग व गाली गलौच करने वालों की शिकायत पुलिस में करना एक परिवार को महंगा पड़ गया। आरोप है कि पुलिस में की गई शिकायत से चिढ़कर इन लोगों ने पुलिस को शिकायत करने वाले परिवार पर अगले दिन हमला कर दिया, जिसमें पीड़ित परिवार के दो युवकों के पैर टूट गए। घायलों को उपचार के लिए नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया। परंतु गंभीर हालत के चलते प्राथमिक उपचार के बाद उनको हायर सेंटर रेफर कर दिया। इसके बाद परिजन उन्हें जयपुर लेकर चले गए। जहां अस्पताल में उपचार किया जा रहा है।

इस बारे में पीड़ित रोहताश कुमार ने बताया कि उसके दो परिवारों ने गांव टहला की सीम में स्वयं के खेतों पर रिहायश की हुई है। खेतों में बने घर के पास एक सार्वजनिक तिबारा बना हुआ है। इस तिबारे में गांव के लोग धार्मिक अनुष्ठान भी करते रहते हैं। रोहताश ने बताया कि चार दिन पहले रात करीब 10 बजे टहला व आसपास के गांवों के करीब 15 से 20 युवक शराब पीकर गाली गलौच और आपस में हुड़दंग कर रहे थे। परिवार में ही उसके चचेेरे भाई की पत्नी सुंदरदेवी ने तिबारे में गाली गलौच करने वालों से कहा कि यहां उनका परिवार रहता है, इसलिए यहां शराब पीकर शोर शराबा न करें।

रोहताश के अनुसार इस पर शराब पीने वाले युवक सुंदरदेवी व उसके बेटे से गाली गलौच करने लगे और मारने पीटने पर उतारू हो गए। जिस पर वह अपने बेटे को घर के अंदर ले गई और घटना की सारी जानकारी मोाबइल पर नारनौल पुलिस को दी। सुंदरदेवी की सूचना पर रात को ही पुलिस आई गई और इसके बाद सुंदरदेवी ने रात को थाना में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवा दी।

15-20 युवकों ने खेत में काम कर रहे परिवार पर किया हमला

रोहताश ने बताया कि घटना के अगले दिन जब उनका परिवार खेतों में बाजरे की फसल निकलवा रहा था तो करीब 15 से 20 युवक हाथों में लोहे की राड़ व लटठों से लैस होकर आए तथा आते ही उन पर जानलेवा हमला कर दिया। रोहताश ने बताया कि हमलावरों ने उसके दो बेटांे मनीष उर्फ मोनू व अमरजीत के पैर लाठी डंडों से हमला करके बुरी तरह तोड़ डाले। पीडि़त के अनुसार उसने अपने बेटों को नारनौल के नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया था। परंतु वहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए रेफर दिया गया। अब उनका जयपुर के एक अस्पताल में उपचार किया जा रहा है। पीडि़त ने बताया कि हमलावरों के हौंसले इतने बुलंद हो चुके हैं वे अब भी उनके घरों पर जाकर महिलाओं को धमकी दे रहे हैं। पीडि़त परिवार ने पुलिस प्रशासन से आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।


Next Story
Top