Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोविड संक्रमण से निपटने के लिए हरियाणा रेडक्रास तैयार

हरियाणा रेडक्रॉस सोसायटी(Red Cross Society) के महासचिव डीआर शर्मा ने कहा कि कोरोना-19 की महामारी के दौर में पूरे राज्य के अंदर रक्त की कोई भी कमी नहीं आने देंगे।

एक बार जान लें रक्त दान कौन कर सकता है और कौन नहीं
X
कौन कर सकता है रक्त दान (फाइल फोटो)

योगेंद्र शर्मा : चंडीगढ़

हरियाणा रेडक्रॉस की ओर से कोविड-19 (COVID-19) से निपटने के लिए खास रणनीति तैयार कर ली गई है। आने वाले दिनों में सभी जिलों में रक्त (Blood) एकत्र करने के साथ-साथ में भयंकर संकट के दौर से गुजर रहे मरीजों के लिए प्लाज्मा (Plasma) की व्यवस्था की जा रही है।

हरियाणा रेडक्रॉस सोसायटी के महासचिव डीआर शर्मा ने कहा कि कोरोना-19 की महामारी के दौर में पूरे राज्य के अंदर रक्त की कोई भी कमी नहीं आने देंगे। इस क्रम में हमने व्यापक तैयारी की है। राज्य के सभी जिलों में जिला उपायुक्तों और रेडक्रास सचिवों को पत्र भेजकर इस दिशा में कदम उठाने, रक्त की व्यवस्था रखने और गंभीर संकट में फंसे मरीजों के लिए प्लाज्मा दानवीर तैयार करने के लिए कहा गया है।

अब से पहले गुरुग्राम और फरीदाबाद में चार सौ से ज्यादा लोगों ने रेडक्रास की पहल और प्रेरणा के बाद ही प्लाज्मा दान किया है। अब एक बार फिर से हर जिले में जागरुकता अभियान चलाकर प्लाज्मा और खूनदान के लिए लोगों को तैयार किया जा रहा है। प्लाज्मा को लेकर लोगों में भ्रांति दूर करने की खास तैयारी कर ली गई है। इसके लिए हर जिले पर ब्योरा तैयार किया जा रहा है। अभी तक राज्यके विभिन्न जिलों में डेढ़ सौ लोगों ने अपने पंजीकरण करा लिए हैं।

कोविड से ठीक हो चुके लोग देंगे प्लाज्मा

राज्य के सभी जिलों में अब कोविड से ठीक हो चुके, उन लोगों का प्लाज्मा लिया जाएगा, जो कोविड से ठीक हो चुके हैं। ठीक होने के बाद में जिनके शरीर में एंटीबाडी बन चुकी है, उनके प्लाज्मा से गंभीर मरीजों को जीवनदान दिया जा सकता है।

रेडक्रास के डाक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ जुटे कोविड में

कोविड की चुनौती के दौरान राज्य रेडक्रास सोसायटी की ओर से अपने पैरामेडिकल स्टाफ और डाक्टरों को लोगों की सेवा के लिए हरियाणा राज्य के स्वास्थ्य विभाग को दे दिया गया है।

प्लाज्मा डोनर का डाटा हो रहा लगातार अपडेट

राज्य में प्लाज्मा डोनर का ब्यौरा तैयार किया जा रहा है। इस तरह से डेढ़ सौ ही नहीं बल्कि राज्य के विभिन्न हिस्सों से कोविड की चुनौती से ठीक हो चुके लोगों को प्लाज्मा दान करने के लिए तैयार किया जा रहा है। उन्हें डाॅक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की ओर से जागरूक भी किया जा रहा है।

और पढ़ें
Next Story