Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आबादी वाले क्षेत्रों से बाहर होंगे खाद्यान्न गोदाम, कमेटी गठित

कृषि मंत्री जे पी दलाल ने यह बात हरियाणा विधान सभा के बजट सत्र में गोदामों को स्थानांतरित करने बारे पूछे गए एक प्रश्न का जवाब देते हुए कही।

आबादी वाले क्षेत्रों से बाहर होंगे खाद्यान्न गोदाम, कमेटी गठित
X

कृषि मंत्री जे पी दलाल 

हरियाणा के कृषि मंत्री जे पी दलाल ने कहा कि राज्य के कुछ शहरी क्षेत्रों में खाद्यान्न गोदाम आबादी वाले क्षेत्रों में आ गए हैं। उन गोदामों को स्थानांतरित करने के लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा। यह कमेटी ऐसे क्षेत्रों का सर्वे करेगी और सर्वे के अनुसार नीति बनाकर ऐसे खाद्यान्न गोदामों को स्थानांतरित करने का निर्णय लिया जाएगा। कृषि मंत्री ने यह बात हरियाणा विधान सभा के बजट सत्र के दूसरे दिन गोदामों को स्थानांतरित करने बारे पूछे गए एक प्रश्न का जवाब देते हुए कही।

उन्होंने कहा कि हांसी शहर के गोदाम मुख्य सडक़ पर हैं, लेकिन इनसे यातायात एवं वाहनों के आवागमन में कोई बाधा नहीं आती। फिर भी अच्छा प्रस्ताव आने और बेहतर कनेक्टिविटी की जमीन की उपलब्ध होने पर इन गोदामों को स्थानांतरित करने बारे विचार किया जा सकता है। बशर्ते कि ऐसा करने पर भंडारण निगम को किसी प्रकार की वित्तीय हानि नहीं हो।

उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों में सुरसी एवं कीड़े मारने के लिए भंडारण गोदामों में कीड़े मार दवाइयों का प्रयोग किया जाएगा जिससे नागरिकों को कोई परेशानी न हो। इसके लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए जाएंगे कि वे समय-समय पर कीटनाशक दवाइयों का छिडक़ाव करें।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न शहरों में हरियाणा राज्य भंडारण निगम द्वारा 111 गोदाम चलाए जा रहे हैं। इनकी भंडारण क्षमता 2205 लाख टन है। इनमें 21 लाख मीट्रिक टन क्षमता के कवर्ड गोदाम हैं। उन्होंने कहा कि भंडारण निगम, कृषि विभाग, शुगरफेड एवं नगर समितियों की भूमि पर 5 लाख 80 हजार मीट्रिक टन क्षमता के गोदामों के निर्माण की प्रक्रिया जारी है। इसके अलावा, पीपी मोड पर भी 11 लाख 25 हजार मीट्रिक टन क्षमता के स्टील साइलों के निर्माण का प्रस्ताव है। आगामी दो वर्षों में नए गोदामों और स्टील साइलों के निर्माण के साथ खुले में अधिसूचित वस्तुओं के भंडारण की समस्या को काफी हद तक दूर किया जा सकेगा।

Next Story