Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बहादुरगढ़ में सेक्टर 16 की कैमिकल फैक्ट्री में लगी आग

गुरुग्राम से तीन, रोहतक से दो और झज्जर-सोनीपत से एक-एक गाड़ी और बुलाई गईं। करीब आठ घंटे के बाद दोपहर एक बजे आग पर नियंत्रण पाया जा सका। लेकिन आग पूरी तरह से बुझ नहीं पाई थी। तीन गाडि़यों के सहारे दमकल कर्मी बुझाने में लगे हुए थे।

बहादुरगढ़ में सेक्टर 16 की कैमिकल फैक्ट्री में लगी आग
X
कैमिकल फैक्ट्री में लगी भयानक आग का दृश

हरिभूमि न्यूज : बहादुरगढ़

एचएसआईआईडीसी सेक्टर-16 में स्थित एक केमिकल फैक्ट्री में शनिवार की सुबह भीषण आग लग गई। आगजनी की इस घटना से कोई जनहानि तो नहीं हुई, लेकिन भवन लगभग ध्वस्त हो गया। लाखों रुपये का तैयार व कच्चा माल जलकर राख हो गया। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। आग बुझाने के दौरान फायर ऑफिसर टीआर पालीवाल भी गाड़ी से गिरकर घायल हो गए।

दरअसल, दिल्ली के निवासी गौरव भल्ला की बहादुरगढ़ के सेक्टर-16 में स्टार रूफिंग सोल्यूशन (रिजोल पेट्रो प्रोडक्शन प्रा.लि) नाम से केमिकल फैक्ट्री है। इसमें ग्रीस व इंजन ऑयल बनाया जाता है। शनिवार की सुबह करीब पांच बजे अचानक कंपनी की दो नंबर यूनिट में आग लग गई। ज्वलनशील पदार्थ होने के कारण आग तेजी से फैलती गई। कंपनी में मौजूद कर्मचारियों ने फायर ब्रिगेड को सूचना देने के साथ-साथ खुद भी आग बुझाने के प्रयास किए, लेकिन आग काफी बढ़ चुकी थी। इसके बाद दमकल विभाग की चार गाडि़यां मौके पर पहुंची। आग इतनी भयंकर थी कि ये चार गाडि़यां कम पड़ गई। फिर दो गाडि़यां बुलाई गईं। इसके बाद गुरुग्राम से तीन, रोहतक से दो और झज्जर-सोनीपत से एक-एक गाड़ी और बुलाई गईं। करीब आठ घंटे के बाद दोपहर एक बजे आग पर नियंत्रण पाया जा सका। लेकिन आग पूरी तरह से बुझ नहीं पाई थी। तीन गाडि़यों के सहारे दमकल कर्मी बुझाने में लगे हुए थे।

केमिकल ड्रम फटने के चलते बार-बार धमाके हो रहे थे, जिन्हें सुनकर आसपास मौजूद लोग भयभीत थे। कई किलोमीटर दूर तक आसमान में काला धुआं दिखाई दे रहा था। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। गनीमत रही कि जिस समय आग लगी, तब फैक्ट्री में काम नहीं चल रहा था। अन्यथा हादसा गंभीर रूप ले सकता था। इस घटना से फैक्ट्री मालिक को काफी नुकसान हुआ है। फैक्ट्री में रखा अधिकांश कच्चा व तैयार माल जलकर राख हो गया। भवन भी काफी हद तक क्षतिग्रस्त हो गया और दीवार ढह गई। दीवार गिरी तो साथ लगती एक अन्य फैक्ट्री में भी आग लग गई। इस फैक्ट्री में रबड़ का काफी माल जा गया। लेकिन दमकल कर्मियों ने आग फैलने से रोक ली।

फायर आफिसर हुए घायल

फैक्ट्री में लगी आग पर काबू पाने के लिए फायर ऑफिसर टीआर पालीवाल भी गाड़ी पर चढ़ गए और आग पर पानी डालने लगे। इसी दौरान जब चालक गाड़ी को बैक करने लगा तो ऊपर खड़े ऑफिसर दमकल नीचे गिर गए। साथी कर्मचारियों ने तुरंत उनको संभाला और नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया।

आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं

फायर ऑफिसर टीआर पालीवाल ने बताया कि आग बुझाने में कर्मचारी लगे हुए हैं। दूसरे शहरों की दमकल गाडि़यां बुलाई गई हैं। आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं है। जांच के बाद ही कारण स्पष्ट हो पाएगा।

Next Story