Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सावधान ! गूगल से कस्टमर केयर का नम्बर तलाशना पड़ सकता है महंगा, आए दिन हो रही ठगी

आप उन ठगों के जाल में फंस सकते हैं, जो फर्जी कस्टमर केयर नंबर की आड़ में लोगों के साथ ठगी कर रहे हैं। लोगों को अपना शिकार बनाने के लिए वे यह तरीका अपना रहे हैं। इसके अलावा फर्जी नम्बर और विज्ञापनों से भी ठग आए दिन लोगों के साथ लाखों की ठगी कर रहे हैं। बार बार सचेत करने के बावजूद लोग इनका शिकार बन रहे हैं।

Cyber Fraud: अब बैंक अकाउंट से पैसा चोरी होने पर ऐसे वापस मिलेंगे पैसे, बनाई गई है 12615 एक्सपर्ट की टीम
X

Cyber Fraud

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

हम अक्सर गूगल पर कंपनियों के कस्टमर केयर नंबर सर्च करते हैं। लेकिन इस तरह की आदत महंगी पड़ सकती है। आप उन ठगों के जाल में फंस सकते हैं, जो फर्जी कस्टमर केयर नंबर की आड़ में लोगों के साथ ठगी कर रहे हैं। लोगों को अपना शिकार बनाने के लिए वे यह तरीका अपना रहे हैं। इसके अलावा फर्जी नम्बर और विज्ञापनों से भी ठग आए दिन लोगों के साथ लाखों की ठगी कर रहे हैं। बार बार सचेत करने के बावजूद लोग इनका शिकार बन रहे हैं। पुलिस भी ऐसे मामलों में अपराधियों तक नहीं पहुंच पाती। इसलिए आप सचेत रहें और गूगल से किसी कस्टमर केयर या कंपनी का नम्बर सर्च करने में सावधानी बरतें।

जोमैटो कंपनी से मंगवाया खाना

मदवि की एक स्टूडेंट ने विगत वर्ष जोमैटो कंपनी से खाना मंगवाया था। खाना पसंद नहीं आने पर गूगल से कस्टमर केयर का नम्बर लिया गया। लेकिन नम्बर को एक ठग चला रहा था। ठग ने छात्रा के खाते को अपने खाते से लिंक कर लिया और खाते से करीबन 80 हजार रुपये निकाल लिए। पुलिस ने केस दर्ज किया लेकिन ठगों का पता नहीं चल सका।

युवती ने ऑनलाइन आरओ मंगवाया था

सेक्टर एक निवासी एक युवती ने ऑनलाइन आरओ मंगवाया था। लेकिन आरओ में कुछ खराबी मिली। कंपनी के कस्टमर केयर का नम्बर गूगल से लिया गया। नम्बर को एक ठग चला रहा था। युवती ने उत्पाद की शिकायत की तो उसे एक लिंक भेजा गया। बताया गया लिंक पर क्लीक करेंगे तो आपके खाते में कंपनी रुपये भेज देगी। लेकिन लिंक पर क्लीक करते ही खाते से करीबन सवा लाख रुपये कट गए। पुलिस में शिकायत दी गई लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

एक अन्य केस में पीजीआई के एक डॉक्टर ने सितम्बर 2020 में जोमैटो पर खाना ऑर्डर किया था। लेकिन ऑर्डर पूरा नहीं हुआ और खाते से रुपये कट गए। रुपये वापस मंगवाने के लिए कस्टमर केयर पर कॉल की गई। इस दौरान ठगों ने फर्जी लिंक के माध्यम से डॉक्टर के खाते से 96 हजार रुपये निकाल लिए।

पार्ट टाइम नौकरी के विज्ञापन का झांसा दे की ठगी

कमला नगर निवासी युवती और आर्य नगर निवासी युवक ने अब पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। मामले के अनुसार, कमला नगर की रहने वाली सुमन ने बताया कि उसने पार्ट टाइम नौकरी के विज्ञापन के बारे में पढ़ा। वह निजी मोबाइल कंपनी का था। सुमन ने उस पर दिए गए नंबर पर कॉल किया। फोन उठाने वाले व्यक्ति ने कहा कि कंपनी में 2150 रुपये जमा कराने होंगे। पीड़िता ने रुपये जमा करा दिए। इसके बाद फिर कॉल आई और कहा कि आपके फार्म में गड़बड़ी है। 60 हजार रुपये जमा कराने होंगे। कुछ देर बाद आपके रुपये आपको वापस मिल जाएंगे। युवती उनके झांसे में आ गई और रुपये जमा करा दिए। ठग ने फिर से बहाना बनाया कि अब 12 हजार रुपये भी जमा करा दीजिए। पीड़िता ने रुपये जमा कराने से मना कर दिया। जिसके बाद ठग ने धमकी दी कि यदि 12 हजार रुपये जमा नहीं कराए तो पहले जमा हुई रकम वापस नहीं भेजी जाएगी। शिवाजी कालोनी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

नौकरी के नाम पर युवक से ठगे करीब 28 हजार रुपये

आर्य नगर के रहने वाले सचिन ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि कुछ दिन पहले उसके एक परिचित के माध्यम से पता चला है कि एक वेबसाइट पर पार्ट टाइम नौकरी के लिए विज्ञापन आया है। सचिन ने वेबसाइट पर दिए गए नंबर पर कॉल की। फोन उठाने वाले व्यक्ति ने खुद को एक कंपनी का मैनेजर बताया। उसने कहा कि पार्ट टाइम नौकरी के लिए आपको पहले 3200 रुपये जमा कराकर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। युवक उनकी बातों में आकर 3200 रुपये जमा करा दिए। बाद में 25 हजार रुपये भी जमा करा लिए गए। आरोपितों ने नौकरी के नाम पर युवक से करीब 28 हजार रुपये ठग लिए। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

एयर टिकट के रुपये रिफंड के लिए कस्टमर केयर को किया फोन

मॉडल टाउन निवासी एक व्यक्ति के साथ भी ऐसा ही मामला हुआ, जिसमें खाते से एक लाख 28 हजार रुपये निकाल लिए गए। माॅडल टाउन निवासी रिद्धवंश ने बताया कि उसके एयर टिकट के रुपये रिफंड आने थे। मंगलवार को फोन-पे एप्लीकेशन के कस्टमर केयर पर कॉल की। उस समय फोन रिसीव नहीं हुआ। कुछ देर बाद अज्ञात नंबर से कॉल आई। फोन करने वाले ने कहा कि 24 घंटे में आपके 33736 रुपये वापस आ जाएंगे। करीब एक घंटा बाद फोन पर कई मैसेज आए, जिसमें पता चला कि उसके खाते से एक लाख 28 हजार रुपये निकाले गए हैं। पीड़ित का कहना है कि उसके पास कोई ओटीपी भी नहीं आया। फोन करने वाले ने धोखाधड़ी कर खाते से यह रकम निकाली है।

एक्सपर्ट अधिकारी करेंगे कार्रवाई

ठगी के मामलों में पुलिस तत्परता से काम कर रही है। आने वाले दिनों में ठगी के मामलों में सख्त कार्रवाई देखने को मिलेगी। साइबर टीम के अलावा थाना पुलिस के एक्सपर्ट जांच अधिकारी इन मामलों की कार्रवाई करेंगे। गोरखपाल राणा, डीएसपी हेडक्वाटर।

Next Story