Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसानों के लिए राहत भरी खबर : बारिश से बर्बाद हुई फसलों का कृषि विभाग ने शुरू किया सर्वे

सर्वे में कृषि विभाग के अधिकारी, फसल बीमा योजना अधिकारी और उस किसान को शामिल किया जाएगा जिसकी फसल का सर्वे होगा। इस समय कृषि विभाग कार्यालय में करीब 6500 किसानों ने शिकायत देकर कहा है कि उनकी फसल बरसाती पानी से हुए जलभराव से नष्ट हुई है। इसलिए उन्हें बीमा योजना का लाभ दिया जाए।

किसानों के लिए राहत भरी खबर : बारिश से बर्बाद हुई फसलों का कृषि विभाग ने शुरू किया सर्वे
X

खेतों में खड़ा पानी।

हरिभूमि न्यूज. जींद

बारिश के चलते जिन किसानों की फसलें बर्बाद हुई हैं उन्हें अब स्पेशल गिरदावरी तथा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से मिलने वाले लाभ से भरपाई का इंतजार है। कृषि विभाग की तरफ से सर्वे शुरू कर दिया गया है। सर्वे में कृषि विभाग के अधिकारी, फसल बीमा योजना अधिकारी और उस किसान को शामिल किया जाएगा जिसकी फसल का सर्वे होगा। इस समय कृषि विभाग कार्यालय में करीब 6500 किसानों ने शिकायत देकर कहा है कि उनकी फसल बरसाती पानी से हुए जलभराव से नष्ट हुई है। इसलिए उन्हें बीमा योजना का लाभ दिया जाए। गत 23 सितंबर को आठ घंटे तक हुई बारिश ने किसानों की अधिकतर फसल को बर्बाद कर दिया था। इनमें धान के साथ-साथ कपास फसल भी शामिल थी। किसानों के अनुसार फसल के अच्छे उत्पादन को लेकर उन्होंने हजारों रुपये खर्च किए थे। बाकायदा कीटनाशकों पर भी खर्च किया था लेकिन बारिश ने उनके अरमानों पर पानी फेर दिया है। उन्हें आर्थिक मुआवजा दिया जाए ताकि उनकी लागत पूरी हो सके।

बारिश या जलभराव से फसल खराब होने पर 72 घंटे के अंदर कृषि विभाग कार्यालय में आवेदन करना होता है, जिसके बाद कृषि विभाग के अधिकारी और बीमा कंपनी कर्मचारी आवेदक किसान के खेत की विजिट कर सर्वे करते हैं और नुकसान का आंकलन करते हैं। जितनी फसल खराब होती हैए उसी हिसाब से बीमा क्लेम मिलेगा। सितंबर महीनें में किसानों के लगातार आवेदन आ रहे हैं और वीरवार को हुई बारिश के अबतक कृषि विभाग कार्यालय में 6500 आवेदन आ चुके हैं। जो फसलें कट चुकी थी और बारिश के चलते खराब हो गई, उनका सर्वे सबसे पहले किया जा रहा है। बाकी आवेदकों का डाटा पोर्टल पर अपलोड करने के बाद 15 दिन से पहले सर्वे कर दिया जाएगा।

बीमा कंपनी के साथ सर्वे कर रही टीम : डा. सुरेंद्र

कृषि उपनिदेशक डा. सुरेंद्र सिंह ने बताया कि विभाग की टीम बीमा कंपनी के साथ मिलकर सर्वे कर रही है। पीडि़त किसानों को क्लेम मिलेगा। जिन किसानों ने बीमा प्रीमियम कटवायाए उन्हें मिलेगा क्लेम जिन भी किसानों ने फसल बीमा योजना के तहत प्रीमियम कटवाया है, उन किसानों के आवदेन आए हुए हैं।

Next Story