Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रोहतक में पुलिस की 24 टीमों ने की ​ताबड़तोड़ छापेमारी : बीपीएल परिवारों के नाम अलॉट फ्लैट्स में रहते मिले दूसरे लोग, तीन दिन में खाली करने का नोटिस

रविवार को सेक्टर-4 एक्सटेंशन और सनसिटी सेक्टर-36 ए में बने बीपीएल फ्लैट्स में पुलिस ने सुबह छह बजे ही ताबड़तोड़ छापेमारी की। लोग नींद से जागे भी नहीं थे कि अपने दरवाजे पर पुलिस खड़ी देखी।

रोहतक में पुलिस की 24 टीमों ने की ​ताबड़तोड़ छापेमारी : बीपीएल परिवारों के नाम अलॉट फ्लैट्स में रहते मिले दूसरे लोग, तीन दिन में खाली करने का नोटिस
X

लोगों से पूछताछ करती और फ्लैटस के बाहर नोटिस चस्पाती पुलिस।

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

रोहतक में रविवार को सेक्टर-4 एक्सटेंशन और सनसिटी सेक्टर-36 ए में बने बीपीएल फ्लैट्स में पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की। एसटीएफ और अर्बन एस्टेट थाना पुलिस ने सुबह 6.30 से 9.30 बजे तक फ्लैट खंगाले। 24 टीम में शामिल 100 से ज्यादा जवानों ने छापेमारी की तो पता चला कि दूसरों के फ्लैट्स में लोग ताला तोड़कर रह रहे थे। जबकि ये फ्लैट किसी और के नाम अलॉट हैं। ऐसे लोगों को फ्लैट खाली करने के लिए तीन दिन का नोटिस चस्पा दिया गया है। वहीं पुलिस ने 10 संदिग्ध लोगों को भी पकड़ा है। इनमें एक युवक का चेहरा स्कूटी चोरी करने वाले से मिलता है, तो उसे पूछताछ की जा रही है।

अचानक पुलिस की इस बड़ी कार्रवाई से दोनों जगहों पर भगदड़ मची रही। कुछ संदिग्ध लोग छतों पर चढ़कर भी भागे, जिन्हें पकड़ लिया गया। दरअसल बीपीएल के कुछ फ्लैट खाली पड़े हैं, कुछ लोग अलॉटमेंट के बाद रहने नहीं आए। ऐसे फ्लैट्स को शराबियों ने अड्डा बना लिया है। शाम होते ही यहां बोतलें खुलनी शुरू हो जाती हैं। कई बार तो शराबी दिन में ही पैग टकराने शुरू कर देते हैं। हुडा इन फ्लैट की सुध नहीं ले रहा, इसलिए यहां इस तरह की गतिविधियां हो रही हैं। अब पुलिस ने छापेमारी की तो सबकुछ सामने आ गया।

आंख खुली नहीं पुलिस खड़ी देखी

स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) और अर्बन एस्टेट थाना पुलिस ने टीम बनाई। अर्बन एस्टेट थाना प्रभारी इंस्पेक्टर प्रहलाद सिंह के नेतृत्व में टीम में शामिल 100 से ज्यादा जवान 6.30 बजे ही सेक्टर-4 एक्सटेंशन में पहुंच गए। थाना प्रभारी को छोड़कर सभी जवान प्राइवेट गाड़ियों में ही थे। यहां पहुंचते ही सबसे पहले मेन गेट को बंद कर दिया गया और यहां पुलिस तैनात कर दी गई, ताकि कोई बाहर न जा सके। टीम अलग-अलग टुकड़ियों में बांट दी गई और हर टुकड़ी ने एक साथ हर फ्लैट पर दस्तक दी।

पुलिस ने यहां रहने वाले सभी लोगों के दस्तावेज जांचे। इतनी बड़ी संख्या में पुलिस को देखकर भगदड़ मच गई।

ऐसे पकड़े संदिग्ध

अचानक पुलिस को देख कुछ संदिग्ध लोग वहां से भागने लगे। करीब 10 लोग ऐसे पकड़े जो भागने की फिराक में थे, अब उनसे पूछताछ की जाएगी कि वे किसी अपराधिक गतिविधि में शामिल तो नहीं। जिस तरह वे पुलिस को देखकर भाग रहे थे उससे अंदेशा है कि किसी वारदात का भी खुलासा हो सकता है। एक युवक छत से कूदकर भागने लगा तो पुलिस के जवानों ने उसे दबौच लिया। शक है कि वह स्कूटी चोरी की वारदात में शामिल है। संदिग्ध की सूचना मिलने पर कुछ लोगों को तो सोते हुए ही दबौच लिया गया।

फ्लैट किसी और का, ताला तोड़कर रहता है कोई और

पुलिस की टीम ने सेक्टर-4 एक्सटेंशन के बाद सनसिटी सेक्टर-36 ए में भी छापेमारी की। जांच की गई तो सामने आया कि कुछ फ्लैट किसी ओर के नाम हैं, लेकिन इनका ताला तोड़कर लोग रहने लगे। अलॉटी व्यक्ति नहीं आया तो गैर कानूनी तरीके से यहां लोगों ने कब्जा कर लिया। पुलिस ने उन्हें फ्लैट खाली करने के लिए तीन दिन का समय दिया है। नहीं तो कार्रवाई होगी।

576 फ्लैट हैं, 60 में सजती शराबियों की महफिल

जांच पड़ताल के बाद सामने आया कि दोनों जगहों पर करीब 576 बीपीएल फ्लैट हैं। इनमें से अधिकतर अलॉट हो चुके हैं और करीब 60 फ्लैट ऐसे हैं जो हुडा की देखरेख में हैं। इन फ्लैट में कोई आता-जाता नहीं तो यहां शराबियों की महफिल सजने लगी। ऐसे सभी फ्लैट्स को चिन्हित कर लिया गया है।




फोटो:- 80 से 87 तक

Next Story