Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में कोरोना : 24 घंटे में 1904 केस मिले, संक्रमण से सात की मौत भी हुई

प्रदेश में कोरोना के कुल केस 298133 हों चुके हैं। इनमें से 282368 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और 3191 लोगों की मौत हो चुकी है।

हरियाणा में कोरोना : 24 घंटे में 1904 केस मिले, संक्रमण से सात की मौत भी हुई
X

प्रदेश में कोराना महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। अब कोविड 19 के मामले स्कूल औ कॉलेजों में मिलने लगे हैं। वहीं कोरोना विद्यार्थियों को भी अपना शिकार बना रहा है। प्रदेश में लोग इस माहामारी को लेकर गंभीर नहीं हैं इसी का परिणमा है कि प्रदेश के हर जिले में अब कोविड 19 के मामले सामने आने लगे हैं। रविवार कोप्रदेश में कोरोना के 1904 केस सामने आए और सात लोगों की मौत भी हुई। वहीं 1110 लोगों ने कोरोना को मात भी दी। प्रदेश में कोरोना के कुल केस 298133 हों चुके हैं। इनमें से 282368 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और 3191 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी 12574 एक्टिव केस हैं जबकि रिकवरी दर 94.71 प्रतिशत है। प्रदेश में 1868130 लोगों को कोरोना की वैक्सिन लगाई जा चुकी है।

रविवार को कहां पर कितने केस मिले

Gurugram 555, Faridabad 151, Sonipat 72, Hisar 45, Ambala 114, Karnal 185, Panipat 142, Rohtak 51, Rewari 4, Panchkula 200, Kurukshetra 135, Yamunanagar 98, Sirsa 31, Mahindergarh 5, Bhiwani 16, Jhajjar 38, Palwal 12, Fatehabad 3, Kaithal 6, Jind 34, Nuh 2, Charkhi Dadri 5

18.68 लाख को वैक्सीन लगाई जा चुकी

हरियाणा के स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज राज्यभर में लाभानुभोगियों को कोविड-19 की वैक्सीन के 34,304 टीके लगाए गए। अब तक राज्य में कुल 18.68 लाख लाभानुभोगियों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि विभाग राज्य के हर नागरिक को कोविड-19 वैक्सीन लगाया जाना सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहा है कि टीका सभी को दिया जाए। राज्य में लोगों को कोविड-19 वैक्सीन लगाने के लिए किए गए प्रबंधों के बारे जानकारी सांझा करते हुए श्री अरोड़ा ने कहा कि लोगों को कोविड-19 की वैक्सीन लगाने के लिए राज्य भर में 524 टीकाकरण केंद्र संचालित हैं। उन्होंने बताया कि वैक्सीन की अधिकतम पहुंच सुनिश्चित करने के लिए इन केंद्रों को रणनीतिक रूप से राज्य भर में अत्यधिक आबादी वाले और यहां तक कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी स्थापित किया गया है ताकि संक्रामक कोविड-19 वायरस के प्रसार को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि आज वैक्सीन लेने वालों में अधिकांश लाभार्थियों की आयु 60 वर्ष से अधिक थी या 45 वर्ष से 60 वर्ष तक की आयु के ऐसे लोग शामिल थे जिन्हें कोई अन्य बीमारी भी है।

Next Story