Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मिस्ड कॉल से हनी ट्रैप में फंसाकर जल निगम के अधिकारी से वसूल लिए लाखों, महिला समेत तीन गिरफ्तार

मिस कॉल देकर हनी ट्रैप में फसाने वाली महिला समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

noida news
X

उत्तर प्रदेश की नोएडा पुलिस  

उत्तर प्रदेश की नोएडा पुलिस ने शुक्रवार को मिस कॉल देकर हनी ट्रैप में फसाने वाली महिला समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि इन्होंने दिल्ली में तैनात जल निगम के अधिकारी को हनी ट्रैप में फंसा लिया और करीब तीन लाख रुपये भी वसूल लिए। साथ ही 12 लाख की ओर डिमांड की जा रही थी। रुपये न देने पर महिला ने अधिकारी के खिलाफ रेप का मामला दर्ज करा दिया। हालांकि, पूरा मामला सामने आने के बाद पुलिस ने तीनों के खिलाफ कार्रवाई की है। गैंग का मास्टरमाइंड अ​भी पुलिस की गिरफ्त से फरार हैं।

बीटा—2 कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार राजपूत ने बताया कि 10 मार्च को अलीगढ़ के टप्पल थाना एरिया के वैना गांव निवासी नीरज देवी उर्फ रिया उर्फ नैना चौधरी पत्नी सतीश ने रेप के मामले की तहरीर दी थी। जिसके आधार पर पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। उन्होंने बताया कि जांच में सामने आया कि नीरज देवी को रुपयों की जरुरत थी। इसने अपने एक सहयोगी देवेंद्र चौधरी के साथ मिलकर एक पड़यंत्र रचा। जिसके तहत देवेंद्र ने उसे दिल्ली में जल निगम में तैनात एक अधिकारी का नंबर दिया। देवेंद्र के कहने पर उसने जल निगम के अधिकारी के नंबर पर कॉल की और उन्हें अपने जाल में फंसाकर 8 फरवरी 2022 को परीचौक बुला लिया।

अधिकारी के साथ नीरज देवी मथुरा के वृंदावन घूमकर आई और रात करीब 10 ग्रेटर नोएडा लौटे थे। महिला उन्हें देर रात होने की बात कहकर डेल्टा-2 स्थित ओयो होटल ले गई। आरोप है कि उसके पहले से ही दो साथी वहां तैयार थे। यहां उसने साथियों के साथ मिलकर उसका अश्लील वीडियो बना लिया। वीडियो वायरल करने की धमकी देकर डरा धमकाकर उन्हें वापस वृंदावन ले गए। यहां उसकी मुलाकात नीरज का फर्जी पति मिला और दबाब बनाकर रुपये ऐठनें शुरू कर दिए।

यहां उन्हें रेप में फंसाने की भी धमकी दी गई। जिसके बाद 15 लाख में सौदा तय हुआ। उस दिन जल निगम के अधिकारी ने 2 लाख रूपये नगद और 85 हजार रुपये पेटीएम के माध्यम से वसूल किए। आरोप है कि तभी से नीरज और उसके साथी देवेंद्र, प्रशांत, भारत, मिन्टू व पांचाल की तरफ से पैसे की मांग की जा रही थी। कोतवाली प्रभारी का कहना है कि नीरज की तहरीर पर जेल निगम के अधिकारी के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कर लिया गया था।

लेकिन पूछताछ के दौरान पूरा मामला खुल गया। कोतवाली प्रभारी का कहना है कि फिलहाल अलीगढ़ के वैना गांव निवासी नीरज, गौतमबुद्ध नगर के जेवर के भरत और रबूपुरा निवासी प्रशान्त कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, पुलिस की गिरफ्त से गैंग का मास्टरमाइंड टप्पल निवासी देवेंद्र, मिंटू, पांचाल और महिला का फर्जी पति फरार है। इनके कब्जे से 50 हजार रुपये और दो मोबाइल बरामद किए हैं।

और पढ़ें
Next Story