Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सिद्धू मूसेवाला की हत्या के विरोध में पंजाब से दिल्ली तक प्रदर्शन, कांग्रेस ने CM के आवास पर जमकर किया हंगामा

पंजाबी गायक (Punjabi Singer) और कांग्रेस नेता शुभदीप सिंह सिद्धू (Shubhdeep Singh Sidhu) उर्फ सिद्धू मूसेवाला की दिनदहाड़े हत्या से पूरे पंजाब में राजनीतिक हलचल मच गई है। जिसका असर राजधानी दिल्ली में भी देखने को मिल रहा है।

सिद्धू मूसेवाला की हत्या के विरोध में पंजाब से दिल्ली तक प्रदर्शन, कांग्रेस ने CM के आवास पर जमकर किया हंगामा
X

पंजाबी गायक (Punjabi Singer) और कांग्रेस नेता शुभदीप सिंह सिद्धू (Shubhdeep Singh Sidhu) उर्फ सिद्धू मूसेवाला की दिनदहाड़े हत्या से पूरे पंजाब में राजनीतिक हलचल मच गई है। जिसका असर राजधानी दिल्ली में भी देखने को मिल रहा है। इस हत्याकांड (Massacre) को लेकर आम आदमी पार्टी की पंजाब सरकार पर सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा को लेकर सवाल उठ रहे हैं।

इसके विरोध में पंजाब से लेकर दिल्ली तक विरोध प्रदर्शन हो रहे है। इसी बीच दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( Arvind Kejriwal,) के घर के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल कुमार (Anil Kumar) के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता केजरीवाल का विरोध करने पहुँचे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने मूसेवाला की निर्मम हत्या के लिए आप सरकार को जिम्मेदार ठहराया और सरकार से इस्तीफा देने की मांग भी की।

जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने अनिल कुमार को हिरासत में लेकर सिविल लाइंस थाने ले गई है। वही दूसरी और पंजाब कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने आज सिद्धू मूसेवाला की हत्या को लेकर चंडीगढ़ में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह वारिंग ने कहा कि परिवार पर पोस्टमॉर्टम, अंतिम संस्कार के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि डीजीपी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि मूसेवाला के गैंगस्टरों से संबंध हैं। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हम उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए आज शाम छह बजे अस्पताल से गुरुद्वारा साहिब तक 'शांति मार्च' निकालेंगे। वही सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moosewala) के परिवार ने कहा कि उनका और उनके बेटे का इस तरह अपमान नहीं किया जाना चाहिए, उनका ऐसा कोई संबंध नहीं था।

डीजीपी (DGP) को माफी मांगनी चाहिए। परिजनों ने मांग की है कि हाई कोर्ट के सिटिंग जज की अध्यक्षता में कमेटी बनाई जाए और एनआईए-सीबीआई (NIA-CB) की मदद ली जाए। जब खतरे की आशंका थी और इसे सार्वजनिक किया गया तो सुरक्षा क्यों वापस ले ली गई? उन्होंने कार्रवाई की मांग करते हुए कहा है कि तीनों मांगें पूरी होने पर ही पोस्टमॉर्टम किया जाएगा।

और पढ़ें
Next Story