Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली सरकार के दो बड़े निर्णय, पेड़ कटेंगे नहीं आरोपित किये जाएंगे, स्मॉग टॉवर से खत्म होगा प्रदूषण

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉफ्रेंस करके दिल्लीवासियों को दो महव्वपूर्ण जानकारी दी। एक पेड़ को काटे बिना दोबारा से आरोपित करना, दूसरा प्रदूषण को देखते हुये दिल्ली में स्मॉग टॉवर लगाया जाएगा।

दिल्ली सरकार के दो बड़े निर्णय, पेड़ कटेंगे नहीं आरोपित किये जाएंगे, स्मॉग टॉवर से खत्म होगा प्रदूषण
X
दिल्ली सरकार के दो बड़े निर्णय

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को प्रेस कॉफ्रेंस करके दिल्लीवासियों को दो महव्वपूर्ण जानकारी दी। एक पेड़ को काटे बिना दोबारा से आरोपित करना, दूसरा प्रदूषण को देखते हुये दिल्ली में स्मॉग टॉवर लगाया जाएगा। जाहिर सी बात है दोनों योजनाएं दिल्ली और दिल्ली के लोगों के लिए महत्वपूर्ण है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार से जो भी एजेंसी किसी कार्य करने की अनुमति लेती है, तो उस कार्य को करने के लिए पेड़ों को काटने की जगह उसे कहीं और आरोपित करना होगा।

इससे पहले कार्य करने के बदले पेड़ों को काटने पर 10 पौधे लगाने पड़ते थे लेकिन अब इसके साथ 80 फीसदी पेड़ों को काटने बिना दूसरी जगह लगाना पड़ेगा और इसके बदले में एक साल बाद दिल्ली सरकार उस कार्य का भुगतान करेगी। अरविंद केजरीवाल ने बताया कि भुगतान करने से पहले ये जांच लिया जाएगा कि 80 फीसदी पेड़ जीवित है या नहीं। वहीं इसके लिए विशेष टीम गठित की जाएगी जो इसके ऊपर पूरी रिपोर्ट तैयार करेगी। साथ दिल्ली के लिए मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली पर किसी का आशीवार्द है जो दिल्ली में इतने बड़े-बड़े और पुराने पेड़ है। जिन्हें अब नष्ट नहीं किया जा सकता।

इसी क्रम में दिल्ली सरकार ये योजना आज पारित कर रही है। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली में प्रदूषण को देखते हुये मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में स्मॉग टॉवर लगाये जाएंगे। जिसका खर्चा 20 करोड़ रुपये होगाा। जो कि अपने आप में विश्व का दूसरा स्मॉग टॉवर होगा। पहला चीन में लगा है। दोनों के काम करने के तरीके अलग होंगे। एक स्मॉग टॉवर केंद्र सरकार लगाएगी जो कि आनंद विहार में लगाया जाएगा। दूसरा स्मॉग टॉवर दिल्ली सरकार लगाएगी जो कि कनॉट प्लेस में लगाया जाएगा। इस योजना को दिल्ली सरकार ने पाइलट प्रोजेक्ट का नाम दिया है। केजरीवाल ने कहा कि अगर ये योजना सफल हो जाती है तो आने वाले समय में इसे पूरी दिल्ली में लागू किया जाएगा।

Next Story