Logo
Nainital Fire: पिछले 24 घंटों में उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों से जंगल में आग लगने की 31 नई घटनाएं सामने आईं, जिससे 33.34 हेक्टेयर वन भूमि नष्ट हो गई। रुद्रप्रयाग में शुक्रवार को जंगलों में आग लगाने की कोशिश करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया।

Nainital Fire: देवभूमि उत्तराखंड के जंगलों में आग लगने का सिलसिला जारी है। नैनीताल में भवाली रोड पर पाइंस के जंगलों में लगी आग शुक्रवार, 26 अप्रैल की रात और भीषण हो गई। इस आग की चपेट में जंगल का बड़ा हिस्सा और आईटीआई भवन चपेट में आ गया। आग की लपटें हाईकोर्ट कॉलोनी तक पहुंच गईं हैं। इसका असर इलाके में यातायात व्यवस्था पर भी पड़ा। सड़क पर धुआं छाया हुआ है। लोगों को सांस लेने में कठिनाई हो रही है। 

हेलिकॉप्टर से आग पर काबू पाने का प्रयास
वन विभाग के कर्मचारियों के साथ-साथ सेना के जवान भी आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं। अधिकारियों ने आग बुझाने के लिए हेलीकॉप्टर बुलाया है। हेलिकॉप्टर से आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। तेज हवाओं के कारण कठिनाई आ रही है। यदि समय रहते काबू नहीं पाया गया तो आग लड़ियाकांटा में लगी आग भारतीय सेना के क्षेत्र में भी पहुंच सकती है।

आग खतरनाक रूप से करीब पहुंची
हाईकोर्ट के सहायक रजिस्ट्रार अनिल जोशी ने कहा कि आग ने द पाइंस के पास स्थित एक पुराने और खाली घर को अपनी चपेट में ले लिया है। इससे हाईकोर्ट कॉलोनी को कोई नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन आग खतरनाक रूप से इसके करीब पहुंच गई है। इमारतों में शाम से ही आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है।

आग पाइंस के पास स्थित भारतीय सेना के संवेदनशील इलाकों तक पहुंचने की आशंका को देखते हुए जल्द से जल्द आग बुझाने की कोशिश की जा रही है। जिला प्रशासन ने आग को देखते हुए नैनी झील में नौकायन पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

24 घंटे में 26 अग्निकांड की घटनाएं
नैनीताल के प्रभागीय वन अधिकारी चन्द्रशेखर जोशी ने कहा कि हमने आग बुझाने के लिए मनोरा रेंज के 40 कर्मियों और दो वन रेंजरों को तैनात किया है। वन विभाग द्वारा जारी डेली बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटों में राज्य के कुमाऊं क्षेत्र में जंगल में आग लगने की 26 घटनाएं हुईं, जबकि गढ़वाल क्षेत्र में पांच घटनाएं हुईं। जहां 33.34 हेक्टेयर वन क्षेत्र प्रभावित हुआ।

पिछले साल 1 नवंबर से अब तक राज्य में जंगल में आग लगने की कुल 575 घटनाएं सामने आई हैं। जिससे 689.89 हेक्टेयर वन क्षेत्र प्रभावित हुआ है और राज्य को 14 लाख रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है।

आग लगाते हुए तीन लोग गिरफ्तार
इस बीच, जखोली और रुद्रप्रयाग के दो अलग-अलग क्षेत्रों में जंगल में आग लगाने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। रुद्रप्रयाग के प्रभागीय वनाधिकारी अभिमन्यु ने कहा कि जंगल की आग को रोकने के लिए गठित टीम द्वारा यह कार्रवाई की गई।

उन्होंने बताया कि जखोली के तड़ियाल गांव के भेड़पालक नरेश भट्ट को जंगल में आग लगाते समय मौके से पकड़ लिया गया। पूछताछ के दौरान नरेश भट्ट ने कहा कि उसने अपनी भेड़ों को चराने के लिए नई घास उगाने के लिए आग लगाई थी।

सीएम ने अफसरों को किया अलर्ट
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को अलर्ट पर रहने और सभी विभागों के साथ समन्वय करके आग को रोकने के उपाय करने को कहा है।

jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487