Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Crime: वीजा खत्म होने पर नाइजीरियन के साथ मिलकर अमेरिकी लड़की ने चली ऐसी चाल... तो घंटेभर में पुलिस ने सुलझी हैरान कर देने वाली गुत्थी

राष्ट्रीय राजधानी में अमेरिकी लड़की (American Girl) का अपहरण मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने गुत्थी सुलझा ली हैं। पुलिस के अनुसार लड़की के खुद के अपहरण (Fake Kidnapping) की कहानी अपने घरवालों को ब्लैकमेल (Blackmail) करने के लिए बनाई गई थी।

Delhi Crime: वीजा खत्म होने पर नाइजीरियन के साथ मिलकर अमेरिकी लड़की ने चली ऐसी चाल... तो घंटेभर में पुलिस ने सुलझी हैरान कर देने वाली गुत्थी
X

राष्ट्रीय राजधानी में अमेरिकी लड़की (American Girl) का अपहरण मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने गुत्थी सुलझा ली हैं। पुलिस के अनुसार लड़की के खुद के अपहरण (Fake Kidnapping) की कहानी अपने घरवालों को ब्लैकमेल (Blackmail) करने के लिए बनाई गई थी। डीसीपी अमृता गुगलोथ के मुताबिक, अमेरिकी दूतावास (US Embassy) ने जानकारी दी कि अमेरिका (America) की एक लड़की क्लो रेनी मैकलॉघलिन 3 मई 2022 को दिल्ली पहुंची थी।

उनके साथ एक अज्ञात व्यक्ति ने मारपीट की है। घटना की जानकारी परिजनों को देने के बाद से अमेरिकी युवती लापता है। पीड़िता ने 9 जुलाई को यूएस सिटीजन सर्विस (US Citizen Service) को ईमेल किया था, जिसमें कहा गया था कि वह एक असुरक्षित वातावरण में हैं जहां उसे शारीरिक और भावनात्मक शोषण का सामना करना पड़ा हैं। इसके बाद 10 जुलाई को पीड़िता ने अपनी मां सैंड्रा मैकलॉघलिन से वॉट्सऐप पर वीडियो कॉल के जरिए बात की।

पीड़िता की मां ने उसके बारे में कुछ और जानकारी जुटाने की कोशिश की, लेकिन उसी समय एक अज्ञात व्यक्ति कमरे के सामने आया और वह ज्यादा कुछ नहीं बता सकी। अमेरिकी दूतावास ने यह आशंका जताते हुए अपनी चिंता व्यक्त की कि पीड़िता को उसके परिवार और दूतावास से संपर्क करने से रोका जा रहा है। इसके बाद अमेरिकी दूतावास (US Embassy) ने शिकायत दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को सौंपी।

पुलिस ने बिना देरी करे इस मामले की जांच शुर कर दी। पुलिस इसे अपहरण का मामला मान रही थी। पुलिस ने इसके लिए अमेरिकी लड़की द्वारा इस्तेमाल किए गए आईपी पते का पता लगाने के लिए YAHOO.COM कॉम से मदद मांगी। पुलिस ने IP एड्रेस और सर्विलांस की मदद से इस मामले में हरियाणा के गुरुग्राम से एक नाइजीरियाई नागरिक ओकोरोफोर चिबुइके उर्फ रेची को गिरफ्तार किया।

उसने बताया कि अमेरिकी लड़की ग्रेटर नोएडा के एक फ्लैट में है। पुलिस टीम जब लड़की के पास पहुंची तो पता चला कि लड़की ने अपने माता-पिता को इमोशनली ब्लैकमेल (Blackmail) करने के लिए फोन किया था। पुलिस को पता चला कि लड़की का वीजा 6 जून को समाप्त हो गया था और ना ही उसके पास पैसे बचे थे। उसने अपने माता-पिता से पैसे लेने के लिए खुद को अगवा करने की झूठी कहानी गढ़ी थी।

वह यहां एक नाइजीरियाई बॉयफ्रेंड (Nigerian Boyfriend) के साथ रह रही थी। जिसके दोस्ती फेसबुक के जरिए हुई थी। उसका वीजा भी छह महीने पहले खत्म हो चुका था। जब से वह भारत आई थी तब से ही वह उसके साथ रह रही थी। नाइजीरियाई युवक (Nigerian Boy) और अमेरिकी लड़की (American Girl) को स्टेज पर गाने का शौक है। इस वजह से उनकी दोस्ती हो गयी थी। वही अब पुलिस द्वारा अमेरिकी लड़की को वापस भेजने की औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं।

और पढ़ें
Next Story