Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Chhath Puja 2021: सांसद मनोज तिवारी शुरू करेंगे 'छठ यात्रा', सार्वजनिक जगहों पर पूजा के लिए दिल्ली सरकार के खिलाफ उठाएंगे ये कदम

Chhath Puja 2021: बीजेपी के सांसद मनोज तिवारी (BJP MP Manoj Tiwari) ने ऐलान किया है कि वह छठ यात्रा (Chhath Yatra) निकालेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली में सार्वजनिक जगहों (Public Places) पर पूजा के लिए केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal) के खिलाफ संघर्ष तेज करेंगे।

Chhath Puja 2021: सांसद मनोज तिवारी शुरू करेंगे
X

सांसद मनोज तिवारी शुरू करेंगे 'छठ यात्रा'

Chhath Puja 2021 दिल्ली में छठ पूजा को लेकर सियासत जोर पकड़ने लगी है। बीजेपी के सांसद मनोज तिवारी (BJP MP Manoj Tiwari) ने ऐलान किया है कि वह छठ यात्रा (Chhath Yatra) निकालेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली में सार्वजनिक जगहों (Public Places) पर पूजा के लिए केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal) के खिलाफ संघर्ष तेज करेंगे। क्योंकि दिल्ली में शुक्रवार से सार्वजनिक स्थलों पर धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन शुरू हो गया है। दिल्ली छठ पूजा समिति के पदाधिकारियों ने हाल ही में मनोज तिवारी से उनके आवास पर मुलाकात कर कोविड नियमों (Covid Protocol) का पालन करते हुए यमुना नदी के किनारे, तालाबों और अन्य और सार्वजनिक स्थानों पर त्योहार मनाने का आग्रह किया था। बता दें कि यह पर्व पूर्वांचली समुदाय के लोगों बड़ी संख्या में मनाया जाता है।

इस संबंध में मनोज तिवारी ने कहा कि छठ यात्रा के दौरान पूर्वांचलियों से सार्वजनिक स्थलों पर छठ पूजा करने के संबंध में उनकी राय ली जाएगी। इस महीने की शुरुआत में, उत्तर पूर्वी दिल्ली के भाजपा सांसद और जाने माने भोजपुरी अभिनेता व गायक ने सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा करने पर प्रतिबंध पर चर्चा के लिए अपने आवास पर छठ पूजा समितियों की बैठक बुलाई थी। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर लोगों के छठ पूजा करने से कोविड के फैलने की संभावना नहीं है क्योंकि श्रद्धालु घुटनों तक के पानी में जाकर पूजा करते हैं। जब लोग कोविड के किसी खतरे के बिना स्विमिंग पूल का आनंद ले सकते हैं, ऐसे में छठ पूजा कैसे संक्रमण का फैला सकती है जब श्रद्धालु केवल चंद घंटे के लिए पानी में जाते हैं।

इससे पहले, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने राष्ट्रीय राजधानी के निवासियों से इस अभियान में शामिल होने की अपील की। साथ ही उन्होंने कहा कि कोविड-19 के अनुकूल व्यवहार और मानक संचालन प्रक्रिया का पालन करते हुए नदी के तटों और अन्य जलाशयों पर छठ मनाने की अनुमति दी जानी चाहिए। आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने 30 सितंबर को कहा था कि कोरोना महामारी के मद्देनजर सार्वजनिक जगहों, नदी तटों और मंदिरों में छठ पूजा की अनुमति नहीं दी जाएगी। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) द्वारा जारी एक आदेश में जनता को अपने घरों में ही छठ पूजा मनाने की सलाह दी गई है। दिल्ली में पिछले साल भी सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा प्रतिबंधित थी।

Next Story