Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

निलंबित प्राचार्य ने बाहर फेंकी प्रभारी प्राचार्य की कुर्सी, बिना बहाली खुद ही दे दी ज्वॉइनिंग

तीन माह पहले महिला प्राचार्य (female principal)को किया गया था निलंबित,(suspended) बगैर आदेश दी खुद की ज्वॉइनिंग, प्रभारी प्राचार्य(principal in charge) नंदकुमार श्रीवास ने निलंबित प्राचार्य ऋतु सुरंगे पर आरोप लगाते हुए कहा है कि ऋतु सुरंगे को तीन माह पहले उनके पद से निलंबित किया गया था। पढ़िए पूरी ख़बर...

निलंबित प्राचार्य ने बाहर फेंकी प्रभारी प्राचार्य की कुर्सी, बिना बहाली खुद ही दे दी ज्वॉइनिंग
X

रायपुर: पं.गिरजाशंकर मिश्र शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला(Pt.Girjashankar Mishra Government Higher Secondary School) के प्रभारी प्राचार्य ने निलंबित प्राचार्य के खिलाफ स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department)में शिकायत की है। लिखे गए शिकायती पत्र के मुताबिक, प्रभारी प्राचार्य नंदकुमार श्रीवास ने निलंबित प्राचार्य ऋतु सुरंगे पर आरोप लगाते हुए कहा है कि ऋतु सुरंगे को तीन माह पहले उनके पद से निलंबित किया गया था। 3 दिसंबर को अनाधिकृत रूप से शासन के आदेश के बिना दबावपूर्वक प्राचार्य पद का कार्यभार फिर से ले लिया है। बहाली का आदेश मांगे जाने पर उनके द्वारा ऐसा कोई दस्तावेज पेश नहीं किया गया।

निलंबित प्राचार्य द्वारा वर्तमान प्राचार्य की कुर्सी को प्राचार्य कक्ष से बाहर कर स्वयं अनाधिकृत रूप से कार्यभार ग्रहण किया गया है। इसके साथ ही यह भी लिखा गया है कि महिला होने का लाभ हमेशा ही निलंबित प्राचार्य द्वारा उठाया जाता है। पूरे मामले को लेकर स्कूल में गहमा-गहमी है और कार्यालयीन कामकाज भी ठप हो गया है। गौरतलब है कि पं.गिरजाशंकर शुक्ल विद्यालय की प्राचार्य प्राचार्य ऋतु सुरंगे को कोरोना काल के दौरान छात्रों से फीस लेने के आरोप में निलंबित किया गया था। कोरोना काल के दौरान सभी छात्रों की फीस माफ की गई थी। इसके बाद भी प्राचार्य द्वारा छात्रों से फीस लेने की शिकायत सामने आई थी। जांच के बाद शिकायत को सही पाया गया और प्रशासन द्वारा उन्हें निलंबित करके नंद कुमार श्रीवास को प्रभार दिया गया था। इसके बाद से अब तक बहाली का कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। बहाली का आदेश मांगे जाने पर उनके द्वारा ऐसा कोई दस्तावेज पेश नहीं किया गया। निलंबित प्राचार्य द्वारा वर्तमान प्राचार्य की कुर्सी को प्राचार्य कक्ष से बाहर कर स्वयं अनाधिकृत रूप से कार्यभार ग्रहण किया गया है। इसके साथ ही यह भी लिखा गया है कि महिला होने का लाभ हमेशा ही निलंबित प्राचार्य द्वारा उठाया जाता है। पूरे मामले को लेकर स्कूल में गहमा-गहमी है और कार्यालयीन कामकाज भी ठप हो गया है। गौरतलब है कि पं.गिरजाशंकर शुक्ल विद्यालय की प्राचार्य प्राचार्य ऋतु सुरंगे को कोरोना काल के दौरान छात्रों से फीस लेने के आरोप में निलंबित किया गया था। कोरोना काल के दौरान सभी छात्रों की फीस माफ की गई थी। इसके बाद भी प्राचार्य द्वारा छात्रों से फीस लेने की शिकायत सामने आई थी। जांच के बाद शिकायत को सही पाया गया और प्रशासन द्वारा उन्हें निलंबित करके नंद कुमार श्रीवास को प्रभार दिया गया था। इसके बाद से अब तक बहाली का कोई आदेश जारी नहीं हुआ है।

पूरे मामले की सूचना मिली है। जांच करके तुरंत कार्रवाई की जाएगी।

-एएन बंजारा जिला शिक्षा अधिकारी रायपुर

Next Story