Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

'शेषनाग' ने 'सुपर एनाकोंडा' को पछाड़ा, 7 घंटे में तय की 260 किलोमीटर की दूरी

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, बिलासपुर के द्वारा किया गया एक नया कीर्तिमान स्थापित। पढ़िए पूरी खबर-

शेषनाग ने सुपर एनाकोंडा को पछाड़ा, 7 घंटे में तय की 260 किलोमीटर की दूरी
X

कोरबा। भारतीय रेल के इतिहास में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, बिलासपुर के द्वारा एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। गुरुवार को 4 मालगाड़ियों को जोड़कर पटरी पर दौड़ाया गया। 6 किलोमीटर से अधिक लंबी यह मालगाड़ी 260 किलोमीटर की दूरी महज 7 घंटे में तय कर कोरबा स्टेशन पहुंची।

कोरबा रेलवे स्टेशन के क्षेत्रीय रेल प्रबंधक विशाल ने बताया कि यह बिलासपुर जोन व नागपुर डिवीजन की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है। पिछली बार 3 मालगाड़ियों को जोड़कर उसे एनाकोण्डा नाम दिया गया था। इस बार लोडेड फ्रेड ट्रेन को पटरियों पर दौड़ाया गया। भिलाई से रवाना की गई यह 4 मालगाड़ियों वाली ट्रेन 260 किलोमीटर की दूरी तय कर कोरबा पहुंची है। रेल कर्मियों में इस उपलब्धि हर्ष व्याप्त है।

बता दें इसी के साथ शेषनाग ने सुपर एनाकोंडा को पछाड़ दिया है। शेषनाग भारत की सबसे लंबी ट्रेन है जो आज से चली है। शेषनाग में चार मालगाड़ी ट्रेन/रेक (4 मालगाड़ी खाली), 251 वेगन हैं। यह ट्रेन दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के नागपुर डिवीजन से कोरबा के बीच चली है।

वहीं सुपर एनाकोंडा तीन लोडेड मालगाड़ियों को जोड़कर बनाई गई थी। सुपर एनाकोंडा की कैटेगरी में दो ट्रेनें थीं। यह ट्रेन 30 जून को रायपुर डिवीजन के भिलाई से साउथ ईस्टर्न रेलवे तक चली थी और इसमें 151 वेगन थे। 1.9 किलोमीटर लंबाई थी। यह बिलासपुर डिवीजन के लचकुरा से चक्रधरपुर डिवीजन के राउरकेला तक भी चली थी।



Next Story