Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वर्चुअल रैली में गरजीं सरोज पाण्डेय- हमारे कार्यकर्ताओं को परेशान किया तो कांग्रेस को फिर से सत्ता में आने 25 साल लगेंगे

वर्चुअल रैली में बीजेपी की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पाण्डेय ने कांग्रेस पर जमकर हमला किया. सरोज पाण्डेय ने छत्तीसगढ़ सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को परेशान न करे अन्यथा कांग्रेस के इतिहास अनुसार पुनः सरकार में आने के लिए छत्तीसगढ़ कांग्रेस को 25 वर्ष लगेंगे.

वर्चुअल रैली में गरजीं सरोज पाण्डेय- हमारे कार्यकर्ताओं को परेशान किया तो कांग्रेस को फिर से सत्ता में आने 25 साल लगेंगे
X

रायपुर. वर्चुअल रैली में बीजेपी की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पाण्डेय ने कांग्रेस पर जमकर हमला किया. सरोज पाण्डेय ने छत्तीसगढ़ सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को परेशान न करे अन्यथा कांग्रेस के इतिहास अनुसार पुनः सरकार में आने के लिए छत्तीसगढ़ कांग्रेस को 25 वर्ष लगेंगे.

डॉ सरोज पाण्डेय ने कहा कि गंगाजल की कसम खाने वाली इस सरकार ने कहा था हम शराबबंदी करेंगे लेकिन आज सरकार शराब के पैसों से चल रही है. ये सरकार आज खड़ी कहां है? उन्होंने कहा कि बीजेपी के कार्यकर्ताओं को कोई आंख नहीं दिखा सकता. हम तो विपक्ष में ही पले बढ़े हैं. सरकार अपना पिछला कार्यकाल देख ले जब बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यक्रम में लाठीचार्ज हुआ था. सरकार की इमारत की एक एक ईंट निकलती चली गई और कांग्रेस को सत्ता में लौटने 15 साल तक इंतजार करना पड़ा.

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में एक कंकड़ नदी में फेंक दीजिये तो लहरे गिनी जा सकती है. लहरें इतनी है कि गिनी नही जा सकती. कांग्रेस के अध्यक्ष का न चिंतन है न मनन है. मुख्यमंत्री उस रास्ते पर ही चलते नजर आ रहा है. प्रदेश के मुख्यमंत्री के क्रियाकलापों पर बीजेपी का कार्यकर्ता टिप्पणी करता है, तो उस पर एफआईआर हो जाती है.

डॉ. पांडेय ने कहा कि भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कार्यपद्धति का निर्माण किया. इस कोरोना संकट के बीच भी एक दिन की छुट्टी नहीं मिली. प्रतिदिन काम हुआ. सरकार का भी और संगठन का भी. इससे पहले जितनी भी सरकारें थी वह 5 साल पूरा होने के बाद अपने कार्यकाल का हिसाब देती थी लेकिन देश के इतिहास में केंद्र की सरकार ऐसी पहली सरकार है जिसने अपने एक साल के कार्यकाल का विवरण और लेखा जोखा दे रहे हैं. जनता ने इस पारदर्शिता की वजह से ही बीते चुनाव में 303 सीट देकर आर्शीवाद दिया है.

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने इस वैश्विक महामारी के दौर में कैसे काम किया और इस महामारी से कैसे बाहर निकालने का काम किया. – कोरोना संकट में प्रधानमंत्री मोदी स्टेट्समैन बनकर उभरे हैं. 2014 के पहले जो सरकार काबिज थी वह भ्रष्टाचार में डूबी हुई थी. हर संसद सत्र में एक मंत्री की बलि चढ़ती थी. जब शौचालय बनाने का काम शुरू तब कांग्रेस के एक नेता ने कहा था कि आप प्रधानमंत्री शौचालय बनाने के लिए नहीं बल्कि विकास के लिए बनाया गया है.

Next Story