Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पेंगुलिन तस्कर गिरफ्तार, घूम रहा था बेचने की फ़िराक में

ग्रामीण क्षेत्रों में जादू-टोना के इलाज के रूप में होता है उपयोग, लगातार बढ़ रहा पेंगुलिन का शिकार। पढ़िए पूरी खबर-

पेंगुलिन तस्कर गिरफ्तार, घूम रहा था बेचने की फ़िराक में
X

देवभोग। पुलिस ने वन्य प्राणी पेंगुलिन की तस्करी करते एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है आरोपी पेंगुलिन को बेचने की फ़िराक में घूम रहा था तभी पुलिस ने उसे धर दबोचा। आरोपी के कब्जे से जिन्दा पेंगुलिन को सकुशल बरामद कर लिया गया है।

यह घटना मैनपुर थाना क्षेत्र की है, जहां एसपी के नेतृत्व में मैनपुर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। कुल्हाड़ीघाट के पास पेंगुलिन को बेचने के लिए ग्राहक की तलाश में घूम रहे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने पेंगुलिन को सकुशल आरोपी के कब्जे से बरामद कर लिया है। आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

बता दें फरवरी माह में भी मैनपुर पुलिस ने वन्य प्राणी जिंदा पेंगुलिन की तस्करी करते चार लोगों को गिरफ्तार किया था। उसके दो दिन पहले ही पेंगुलिन के 80 नग खाल के टुकड़े तस्करी करते मैनुपर पुलिस ने 8 लोगों को गिरफ्तार किया था।

क्यों होती है पेंगुलिन की तस्करी

पेंगुलिन का उपयोग दवा और जादू-टोना में किया जाता रहा है। बताया जाता है कि पेंगुलिन के खाल जहां एक ओर तंत्र मंत्र करने वालों के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जाता है तो शरीर के विभिन्ना रोगों के इलाज के लिए आयुर्वेदिक दवा के रूप में तथा ग्रामीण क्षेत्रों में जादू-टोना के इलाज के रूप में उपयोग किया जाता है। इस वजह से पेंगुलिन का शिकार लगातार बढ़ता जा रहा है। किसी समय इस क्षेत्र के जंगलों में बड़ी संख्या में पेंगुलिन दिखाई देता था लेकिन लगातार शिकार और अवैध तस्करी के चलते अब यह काफी दुर्लभ हो गया है। इसे डायनोसोर प्रजाति का माना जाता है, जो काफी वजनी और मजबूत खाल का होता है।

Next Story