Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शादी-बारात की खुशियों के बीच डीजे के शोर पर किसी का नियंत्रण नहीं

राजधानी में डीजे के शोर (noise of the DJ) से बढ़ रही हार्टबीट। कानफोड़ू आवाज से बेचैनी। एनजीटी नार्म्स आरटीओ व्हीकल एक्ट का उल्लंघन। निगम मुख्यालय उड़नदस्ता। पुलिस विभाग की टीम ने की संयुक्त कार्रवाई। पहले ही दिन 10 गाड़ियां जब्त।

शादी-बारात की खुशियों के बीच डीजे के शोर पर किसी का नियंत्रण नहीं
X

रायपुर: शहर में शादी-ब्याह, सामाजिक, धार्मिक समारोह में कानफोड़ू हल्ला मचाने वाले डीजे वाहनों की अब खैर नहीं है। बारात-शादी की खुशियों के बीच डीजे के शोर पर किसी का नियंत्रण नहीं है। सड़कों से लेकर कालोनियों तक धमाल ने आसपास रहने वाले या राहगीरों को मुसीबत में डाल रखा है। आवाज इतनी तेज होती है कि लोगों का हार्टबीट बढ़ जाता है।

जिला प्रशासन के आदेश पर नगर निगम मुख्यालय के नगर निवेश उड़नदस्ता टीम ने पुलिस बल की मौजूदगी में ध्वनि प्रदूषण फैलाने वाली ऐसी ही 10 डीजे वाली बड़ी गाड़ियों को जब्त किया। मोटर व्हीकल एक्ट और एनजीटी के नार्म्स की धज्जियां उड़ाने वाले के खिलाफ यह कार्रवाई गुरुवार को की गई। आमतौर पर निर्धारित मानक से कई गुना ज्यादा तेज आवाज में डीजे बजाने से आसपास के लोगों की धड़कनें बढ़ जाती हैं और श्रवण शक्ति पर भी इसका खासा असर पड़ता है। जिससे बेचैनी होने लगती है।

रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार, नगर निगम आयुक्त प्रभात मलिक, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के आदेश पर नगर निगम मुख्यालय नगर निवेश विभाग के उड़नदस्ता टीम ने चांदनी चौक, आमापारा, डगनिया, खालबाड़ा गुढ़ियारी, शंकरनगर खम्हारडीह सहित विभिन्न स्थानों पर ध्वनि प्रदूषण फैलाने वाली डीजे की 10 बड़ी गाड़ियों को जब्त किया। सार्वजनिक स्थानों पर कानफोड़ू ध्वनि से ध्वनि प्रदूषण को लेकर आम जनता को होने वाली परेशानी को ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाया गया।

आरटीओ को भेजी गाड़ियां

अतिक्रमण विरोधी दस्ता के प्रभारी अधिकारी आभाष मिश्रा ने बताया। जप्त सभी बड़ी गाड़ियों को नियमानुसार प्रक्रिया के तहत शासन के निर्देश पर अग्रिम कार्रवाई के लिए नगर निगम द्वारा क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कार्यालय भेजा जाएगा। जब्त गाड़ियों को आरटीओ दफ्तर भेजेगा निगम

Next Story