Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दो माह से ज्यादा भुगतान रोका तो बिजली बिल हॉफ योजना का नहीं मिलेगा लाभ

प्रदेश के जो भी बिजली उपभोक्ता बकाया जमा नहीं कर रहे हैं, उनको अब फिर से बिजली बिल हॉफ योजना से वंचित होने का करंट लगेगा। कोरोनाकाल के कारण लॉकडाउन में बिजली उपभोक्ताओं को दो माह मार्च और अप्रैल का बिल एक साथ देने के कारण बिल जमा न करने पर किसी भी तरह के सरचार्ज से मुक्त रखा गया था।

दो माह से ज्यादा भुगतान रोका तो बिजली बिल हॉफ योजना का नहीं मिलेगा लाभ
X

बिजली बिल।

रायपुर. प्रदेश के जो भी बिजली उपभोक्ता बकाया जमा नहीं कर रहे हैं, उनको अब फिर से बिजली बिल हॉफ योजना से वंचित होने का करंट लगेगा। कोरोनाकाल के कारण लॉकडाउन में बिजली उपभोक्ताओं को दो माह मार्च और अप्रैल का बिल एक साथ देने के कारण बिल जमा न करने पर किसी भी तरह के सरचार्ज से मुक्त रखा गया था। इसी के साथ दो माह से ज्यादा का बिल जमा न करने पर बिजली बिल हॉफ योजना से भी वंचित नहीं किया गया था, लेकिन अब किसी भी तरह की कोई छूट नहीं है। पावर कंपनी ने स्पॉट बिलिंग के साॅफ्टवेयर में बदलाव भी कर दिया है।

प्रदेश में 46 लाख घरेलू उपभोक्ता हैं, पिछले कुछ माह से शहरी क्षेत्र में आधे और ग्रामीण क्षेत्र में 30 फीसदी उपभोक्ता ही बिल जमा कर रहे हैं। अब जो भी उपभोक्ता दो माह से ज्यादा बिल जमा नहीं करेंगे, उनको बिजली बिल हॉफ योजना का लाभ नहीं मिलेगा। इसी के साथ उनको अपने बकाया पर सरचार्ज भी देना पड़ेगा। छत्तीसगढ़ राज्य पावर कंपनी ने प्रदेश सरकार के निर्देश पर कोरोनाकाल में अपने दफ्तरों को लॉकडाउन किया तो बिजली बिलों की रीडिंग भी बंद कर दी गई। मार्च और अप्रैल में रीडिंग न होने पर मई में दो माह का बिल एक साथ दिया गया। मार्च का बिल औसत दिया गया। इस बिल में सालभर की रीडिंग के हिसाब से औसत निकाले जाने के कारण लोगों को भारी भरकम बिल आए। ऐसे में औसत बिल जमा न करने की छूट दी गई थी।

बिल जमा न करना पड़ेगा भारी

अब दो माह का बिल एक साथ आया तो आधे उपभोक्ताओं ने अपने बिल ही जमा नहीं किए। मई के बाद जून में भी यही आलम रहा है। शहरी क्षेत्र में 40 से 50 फीसदी तक ही उपभोक्ता पिछले चार माह से बिल जमा कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र में स्थिति और खराब है। यहां तो 25 से 30 फीसदी तक ही उपभोक्ता बिल जमा कर रहे हैं। इनको लग रहा है कि कोरोना के कारण उन पर कोई कार्रवाई नहीं होगी। पावर कंपनी के अधिकारियों का कहना है, ऐसा नहीं है कि कोई कार्रवाई नहीं होगी। जो बिल जमा नहीं करेंगे, उनके बिजली कनेक्शन भी काटे जा सकते हैं।

नहीं मिलेगा फायदा

घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को चार सौ यूनिट पर बिजली बिल में हाॅफ का फायदा मिलता है। मार्च और अप्रैल में एक साथ आठ सौ यूनिट का फायदा मिला था। इसके बाद मई से वापस चार सौ यूनिट पर हर माह फायदा मिल रहा है। इसी के साथ अब वापस कंपनी ने साॅफ्टवेयर में बदलाव कर दिया है। अब जिन उपभोक्ताओं का दो माह से ज्यादा बिल जमा नहीं होगा, उनको बिजली बिल हॉफ योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

Next Story