Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गुढ़ियारी अंडरब्रिज लॉक, जर्जर ब्रिज से ट्रैफिक का बोझ, खतरा ही खतरा

तेलघानी नाका ब्रिज के चौड़ीकरण और नया पुल बनाने की प्रक्रिया को 4 साल होने को आए हैं। लेकिन अभी तक निर्माण पूरा नहीं हो सका है। मरम्मत कार्य शुरू होने के बाद पुराने ब्रिज की तरफ ट्रैफिक परिचालन बंद। विवादित हिस्सों में विभाग काम तक शुरू नहीं कर सका है। जबकि तेलघानी नाका ब्रिज के चौड़ीकरण के लिए वर्कआर्डर तक जारी हो चुका है। पढ़िए पूरी ख़बर...

गुढ़ियारी अंडरब्रिज लॉक, जर्जर ब्रिज से ट्रैफिक का बोझ, खतरा ही खतरा
X

रायपुर: गुढ़ियारी अंडरब्रिज की पुरानी सड़क खोदकर यहां पर मरम्मत कार्य प्रारंभ किया गया है। ब्रिज की सड़कें खोदने के बाद गुढ़ियारी की तरफ जाने तेलघानी नाका मार्ग में ट्रैफिक का डायवर्सन होने के बाद पुराने ब्रिज पर लोड अचानक बढ़ गया है। पीडब्ल्यूडी के पुराने तेलघानी नाका ब्रिज को पहले ही जर्जर घोषित किया जा चुका है।

अंडर बायपास की तरफ से ट्रैफिक का परिचालन जर्जर ब्रिज के रास्ते होने से हादसे की आशंका भी बढ़ रही है। गुढ़ियारी से रेलवे स्टेशन आने-जाने वालों के लिए पुराने अंडर बायपास का रास्ता पूरी तरह से बंद हो गया है। जर्जर ब्रिज में वाहनों के लोड की कैपेसिटी पहले जैसी नहीं रह गई है, ऐसे में यहां मालवाहकों की संख्या बढ़ने के कारण हादसे का भी डर बना हुआ है। बता दें कि तेलघानी नाका में 50 साल से भी ज्यादा पुराने ओवरब्रिज के ऊपर बनाई गई सड़क पहले ही खराब हो चुकी है। पिलरों के कमजोर पड़ जाने के बाद यहां पर ब्रिज में कंपन के हालात रहते हैं। लोक निर्माण विभाग तेलघानी नाका पुराने ब्रिज के ठीक बाजू से नए ब्रिज के निर्माण के लिए प्लानिंग तय कर चुका है, लेकिन मुआवजा संबंधी विवाद की वजह से अभी भी परेशानी बढ़ी हुई है। एक करीबी अफसर के मुताबिक मुआवजा प्रकरण लंबित रहने की वजह से पूरे हिस्से में काम शुरू नहीं हो सका है, ऐसे में पुराने जर्जर ब्रिज के ठीक बाजू से नए बायपास को बनाने में अभी लेटलतीफी के हालात हैं। गुढ़ियारी अंडरब्रिज के नीचे सड़क खोदकर इसकी मरम्मत की जा रही है। जिस तरह से मरम्मत कार्य में देर हो रही है, आने वाले समय में पुराने जर्जर ब्रिज के ऊपर हालात कभी भी जोखिम वाले हो सकते हैं। पश्चिम विधायक विकास उपाध्याय ने लोगों को किसी तरह की असुविधा न हो, इसलिए निर्माण व मरम्मत कार्य मार्च महीने के पहले पूरे करने के निर्देश जारी किए हैं।

तेलघानी नाका ब्रिज के चौड़ीकरण और नया पुल बनाने के लिए लोक निर्माण विभाग ने 4 साल पहले प्लानिंग की थी, लेकिन अभी तक निर्माण पूरा नहीं हो सका है। विवादित हिस्सों में विभाग काम तक शुरू नहीं कर सका है। जबकि तेलघानी नाका ब्रिज के चौड़ीकरण के लिए वर्कआर्डर तक जारी हो चुका है। एक कंपनी को निर्माण का ठेका मिलने के बाद भी मुआवजा प्रकरण लंबित होने की वजह से पुराने ब्रिज के ऊपर से ही गाड़ियां दौड़ाने के लिए मजबूरी बन गई है। जर्जर ब्रिज ट्रैफिक के हिसाब से अभी उपयोगी नहीं है। वाहनों की संख्या अचानक से बढ़ने की स्थिति में जोखिम भी बढ़ सकता है।

कलेक्टर के आदेश के बाद नई व्यवस्था

कलेक्टर के आदेश के बाद लोकल और स्टेशन के यात्रियों के लिए वैकल्पिक मार्ग बनाने पर मंजूरी बनी है। इसी के तहत ट्रैफिक पुलिस ने वाहनों का डायवर्सन किया है। लोगों के स्टेशन से निकलकर तेलघानी नाका ओवरब्रिज होते हुए गुढ़ियारी और कोटा से रामनगर की ओर निकलने मार्ग सुनिश्चित किया गया है। गुढ़ियारी बाजार से निकलकर खमतराई, श्रीनगर होकर वाहनों के लिए रूट तय है। कई लोगों को इस व्यवस्था की जानकारी नहीं होने से अभी भी गुढ़ियारी पुराने अंडरब्रिज के रास्ते में वे फंस रहे हैं।

अगर तय समय में मरम्मत नहीं तो आफत

लोक निर्माण विभाग के अफसरों का कहना है कि गुढ़ियारी अंडरब्रिज के मेंटेनेंस का काम एक महीने से पहले ही कर लिया जाएगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो लोकल क्षेत्र में वाहनचालकों के लिए परेशानियां बढ़ जाएंगी। घनी आबादी वाले हिस्से में मरम्मत शुरू होने के बाद काम जल्द पूरा करने को कहा गया है। गुढ़ियारी अंडरब्रिज का रास्ता बंद होने के बाद रेलवे स्टेशन चौक, तेलघानीनाका, गुढ़ियारी और रामनगर की सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव ज्यादा है। गुढ़ियारी अंडरब्रिज के प्लास्टिक बेरिकेड्स लगाकर उसे बंद कर दिया गया है।

समय पर काम पूरा करने लक्ष्य

लोगों को किसी तरह का असुविधाएं न हों, इसलिए अफसरों को काम समय पर पूरा करने सख्त निर्देश दिए हैं। अभी नई सड़क बनाए जाने की वजह से थोड़ी परेशानी है।

- विकास उपाध्याय, संसदीय सचिव व विधायक

Next Story