Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

'भाजपा नेताओं के परिजनों ने भी दूसरे धर्म में शादी की, क्या वह भी लव जिहाद...'

भाजपा शासित राज्यों में लव जिहाद को लेकर कानून बनाने के मामले में अब सियासत शुरू हो गई है। लव जिहाद को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं के परिवार के सदस्यों ने भी अंतर-धार्मिक शादियां की हैं। उनमें से कितनों पर लव जिहाद कानून लागू हुआ है? मुख्यमंत्री श्री बघेल ने विश्व मत्स्य दिवस पर आयोजित छत्तीसगढ़ मछुआरा समाज सम्मेलन के दौरान संवाददाताओं से चर्चा में उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में लाए जाने वाले लव जिहाद कानून पर कहा कि कुछ लोग अन्य धर्म के लोगों से शादी कर रहे हैं, उसे लेकर भी कानून बनाया जा रहा है।

भाजपा नेताओं के परिजनों ने भी दूसरे धर्म में शादी की, क्या वह भी लव जिहाद...
X

रायपुर. भाजपा शासित राज्यों में लव जिहाद को लेकर कानून बनाने के मामले में अब सियासत शुरू हो गई है। लव जिहाद को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं के परिवार के सदस्यों ने भी अंतर-धार्मिक शादियां की हैं। उनमें से कितनों पर लव जिहाद कानून लागू हुआ है? मुख्यमंत्री श्री बघेल ने विश्व मत्स्य दिवस पर आयोजित छत्तीसगढ़ मछुआरा समाज सम्मेलन के दौरान संवाददाताओं से चर्चा में उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में लाए जाने वाले लव जिहाद कानून पर कहा कि कुछ लोग अन्य धर्म के लोगों से शादी कर रहे हैं, उसे लेकर भी कानून बनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि मैं भाजपा के नेताओं से पूछना चाहता हूं कि जो भाजपा के नेताओं के परिवार के लोगों ने अन्य धर्म के लोगों से विवाह किया है, वो लव-जिहाद के दायरे में आता है या नहीं? कितने भाजपा नेताओं पर लव जिहाद लागू हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्या ये कानून सुब्रमण्यम स्वामी या मुरली मनोहर जोशी के परिवार पर भी लागू होगा? ऐसे में उन्हें बताना चाहिए कि क्या लव जिहाद के यह कानून उन पर भी लागू होगा? भाजपा को सिर्फ लोगों को बांटने की राजनीति आती है। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश के बाद उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने भी लव जिहाद पर कानून लाने की बात कही थी।

राममंदिर और गौ कैबिनेट पर भी कसा तंज

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राममंदिर निर्माण के शिलान्यास में केंवट जाति के लोगों को नहीं बुलाए जाने पर भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि भाजपा केंवटों के वोट बैंक को पाने के लिए राजनीति कर रही है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर हमला करते हुए कहा कि वहां पर पांच विभागों को मिलाकर गौ-कैबिनेट का गठन किया जा रहा है। भाजपा के लोगों ने गाय के नाम पर आज तक केवल वोट ही मांगे हैं। उन्होंने अब गौ कैबिनेट बनाया है, ऐसे लोगों को गाय की सेवा कैसे की जाती है, यह सीखना है तो छत्तीसगढ़ से आकर सीखें। गाय केवल वोट मांगने का साधन नहीं है। भाजपा के पास गौरक्षा के उपाय करने की कोई ठोस योजना नहीं है। मध्यप्रदेश में गौ संरक्षण की व्यवस्था नहीं है, ऐसे में गौ-कैबिनेट बनाने से क्या लाभ होगा।

कानून लागू होने पर ही टिप्पणी करें मुख्यमंत्री : चंद्राकर

भाजपा नेता व पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने इस मामले में कहा कि जब तक कोई कानून लागू नहीं हो जाता, मुख्यमंत्री को इस पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। अगर इस पर उन्हें कुछ कहना है तो निजी हमले करना उचित नहीं है। कांग्रेस की ओर से भाषा की मर्यादा को गिराया जा रहा है, यह अच्छी बात नहीं है।

Next Story