Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

EXCLUSIVE VIDEO: 'यहां हर तौल में बट्टा काट के मिलता है राशन' ये हकीक़त है प्रदेशभर के राशन दुकानों की, कड़वा सच...

यूं तो पूरे प्रदेश में ही काँटा-बट्टा का खेल सबकी नाक के नीचे होता है। शायद ही कोई ऐसा काउंटर हो जहाँ तौल में झोलझाल न हो। लेकिन बस चल रहा है चलने दो की तर्ज पर लोग चुप रहते हैं। लेकिन मरवाही क्षेत्र के साल्हेकोटा गांव में ग्रामीणों का गुस्सा इस कदर फूट गया की उन्होंने राशन लेने से ही इनकार कर दिया, गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले गरीब परिवारों के राशन में डाला जा रहा है डाका। राशन कार्ड तो है, लेकिन निर्धारित मात्रा में मिलने वाले राशन और बोनस में किया जा रहा है कटौती, जिसे लेकर ग्रामीण हुए आक्रोशित। पढ़िए पूरी ख़बर...

EXCLUSIVE VIDEO: यहां हर तौल में बट्टा काट के मिलता है राशन ये हकीक़त है प्रदेशभर के राशन दुकानों की, कड़वा सच...
X

गौरेला/पेंड्रा/मरवाही: राशन वितरण को लेकर हितग्राहियों व ग्रामीण जनप्रतिनिधियों ने राशन विक्रेता समूह के ऊपर लगाए गड़बड़ी और धांधली के आरोप। पूरा मामला मरवाही क्षेत्र के साल्हेकोटा गांव का है। जहां ग्रामीणों का गुस्सा इस कदर फूट गया कि शासन के द्वारा दिए जा रहे निर्धारित मात्रा में राशन और बोनस में किए जा रहे कटौती को लेकर ग्रामीणों ने विरोध करते हुए राशन लेने से ही इनकार कर दिया। साथ ही ग्रामीणों ने ग्राम सभा में उपस्थित होकर पंचायत में शिकायत दर्ज कराया। ग्राम सभा में देखा गया कि हितग्राहियों को दिए जाने वाले राशन में विक्रेता के द्वारा कटौती किया जा रहा है। राशन विक्रेता समूह को हटाने को लेकर लेकर ग्राम पंचायत की सहमति से शिकायत जिले के कलेक्टर और खाद्य विभाग को किया गया। जिस पर जांच करने की बात कही गई। लेकिन ग्रामीणजन भी अपने मांग पर अड़े हुए हैं कि जब तक इस राशन विक्रेता समूह को बदलकर राशन दुकान को सहकारी लैंप्स में नहीं दिया जाता, तब तक गांव के लोग राशन नहीं उठाएंगे। अब देखने वाली बात यह होगा कि कब तक प्रशासन इस पर संज्ञान लेगा। देखिए विडियो...
















Next Story