Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सौ प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे इंजीनियरिंग कॉलेज, कोरोना गाइडलाइन का करना होगा पालन

इंजीनियरिंग संस्थानों के साथ ही पॉलिटेक्निक कॉलेज, आईटीआई तथा कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र भी पूरी क्षमता के साथ खोले जा सकेंगे। ऑफलाइन कक्षाओं के दौरान राज्य तथा केंद्र शासन द्वारा समय-समय पर कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा। पढ़िये पूरी खबर-

सौ प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे इंजीनियरिंग कॉलेज, कोरोना गाइडलाइन का करना होगा पालन
X

रायपुर। प्रदेश के शासकीय व निजी इंजीनियरिंग महाविद्यालय अब पूरी क्षमता के साथ खुल सकेंगे। तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार विभाग द्वारा इस संदर्भ में आदेश जारी कर दिया गया है। इंजीनियरिंग संस्थानों के साथ ही पॉलिटेक्निक कॉलेज, आईटीआई तथा कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र भी पूरी क्षमता के साथ खोले जा सकेंगे। ऑफलाइन कक्षाओं के दौरान राज्य तथा केंद्र शासन द्वारा समय-समय पर कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा। अब तक 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही इन संस्थानों को खोले जाने की अनुमति थी।

उक्त संस्थानों के अतिरिक्त प्रदेश के अन्य विश्वविद्यालय तथा महाविद्यालय अब भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही खुल रहे हैं। शासन को 100 फीसदी क्षमता के साथ महाविद्यालय तथा विश्वविद्यालय खोलने की अनुमति प्रदान करने पत्र लिखा गया है, लेकिन अब तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। उच्च शैक्षणिक संस्थान अब भी जवाब का इंतजार कर रहे हैं। गौरतलब है कि स्कूलों को पूरी क्षमता के साथ ऑफलाइन मोड में प्रारंभ करने की अनुमति नवंबर माह में ही प्रदान की जा चुकी है। तकनीकी शिक्षा के इतर अन्य महाविद्यालयों में अब भी 50 प्रतिशत का नियम लागू

प्रायागिक पर जोर

इंजीनियिरिंग पाठ्यक्रमों में बड़ा हिस्सा प्रायोगिक पाठ्यक्रम का होता है। बीते माह से जारी ऑनलाइन कक्षाओं के दौरान सैद्धांतिक पाठ्यक्रम का बड़ा हिस्सा पूर्ण करा लिया गया है, लेकिन प्रायोगिक पाठ्यक्रम अब तक पूरा नहीं किया गया है। ऑफलाइन परीक्षाएं होने की स्थिति में प्रायोगिक परीक्षाएं भी ली जाएंगी, इसलिए सभी महाविद्यालय इसे प्राथमिकता दे रहे हैं। इसके अलावा छात्रों के लिए इंटर्नशिप तथा कैंपस प्लेसमेंट भी रखे जाने की तैयारी शासकीय और अशासकीय कॉलेजों में चल रही है।

Next Story