Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कैट के देशव्यापी बंद का प्रदेश में असर, डूमरतराई थोक सब्जी मंडी आज रहेगी बंद

राज्य के कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स यानी कैट ने जीएसटी के विरोध में आज भारत बंद का आव्हान किया है। इसके समर्थन में कैट की छत्तीसगढ़ इकाई ने भी समर्थन का ऐलान किया है। ऐसे में कैट से जुड़े शहर के व्यापारिक संगठनों ने कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की देशव्यापी बंद के समर्थन में अपने व्यापार बंद रखने का निर्णय लिया है।

पेट्रोल-डीजल के बाद सब्जियों की कीमतों में आई तेजी, आलू, प्याज और टमाटर के दाम 4 गुना तक बढ़े
X
सब्जी मंडी (प्रतीकात्मक फोटो)

राज्य के कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स यानी कैट ने जीएसटी के विरोध में आज भारत बंद का आव्हान किया है। इसके समर्थन में कैट की छत्तीसगढ़ इकाई ने भी समर्थन का ऐलान किया है। ऐसे में कैट से जुड़े शहर के व्यापारिक संगठनों ने कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की देशव्यापी बंद के समर्थन में अपने व्यापार बंद रखने का निर्णय लिया है।

इसी कड़ी में आज राजधानी की सबसे बड़ी थोक सब्जी मंडी डूमरतराई में सब्जियों की खरीदी-बिक्री बंद रहेगी। थोक सब्जी मंडी डूमरतराई के अध्यक्ष टी. श्रीनिवास रेड्डी ने बताया कि जीएसटी के विरोध में कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के भारत बंद का थोक मंडी के सदस्य समर्थन कर रहे हैं। इसलिए शुक्रवार को मंडी की सभी सब्जी व फल दुकानें बंद रहेंगी।

इस तरह मंडी में थोक सब्जियों की खरीदी व बिक्री पूरी तरह ठप रहेगी। श्री रेड्डी ने बताया कि डूमरतराई के अलावा शास्त्रीबाजार और भनपुरी थोक आलू-प्याज मंडी से भी समर्थन मिल रहा है। ऐसे में शास्त्रीबाजार और भनपुरी थोक आलू-प्याज मंडी भी बंद रहेगी। मंडियों के बंद होने के कारण प्रदेश के थोक व चिल्हर व्यापारियों को एक दिन सब्जियां उपलब्ध नहीं हो सकेंगी।

प्रदेश की सब्जी मंडियों पर असर

राजधानी सहित प्रदेश की थोक सब्जी मंडियों पर कैट के देशव्यापी बंद का असर पड़ सकता है। अगर सब्जी मंडियां बंद रहीं तो दूसरे राज्यों से आने वाली सब्जियों की खेप व स्थानीय हरी सब्जियों और आलू-प्याज आदि की आपूर्ति ठप पड़ जाएगी। इससे चिल्हर बाजार में ग्राहकों को हरी सब्जियां महंगी खरीदनी पड़ सकती हैं।

Next Story